breaking 1

Visitors have accessed this post 166 times.

सिकंदराराऊ : रविवार को महाराणा प्रताप राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन के कुशल दिशा-निर्देशानुसार राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ.हिमांशु रॉय ने राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वाधान में संविधान दिवस के उपलक्ष्य में ऑनलाइन प्लेटफार्म गूगल मीट के माध्यम से संविधान: एक जीवंत दस्तावेज विषय पर ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन करवाया। जिसमें महाविद्यालय के छात्र- छात्राओं ने व्यापक रुचि दिखाते हुए सहभागिता की. आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्या प्रो. शैफाली सुमन ने की।
संगोष्ठी में मुख्यवक्ता ने वर्तमान लोकतंत्र में संविधान की प्रासंगिकता और उससे देश के प्रत्येक नागरिक की अपेक्षाओं पर अपने विचारों को छात्र-छात्राओं के समक्ष विस्तृत रूप में रखा और सरकारों को उत्तरदायी और कल्याणकारी नीति निर्धारित कर शासन एवं प्रशासन में समुचित रूप में जन सामान्य की सहभागिता सुनिश्चित करने को सचेत किया ।
संगोष्ठी में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं आकाश पुंडीर, रोहित कुमार, विवेक, शिवकांत, दिनेश कुमार, गौरव कुमार, शिवा जैन, प्रियंका, काजल, कल्पना आदि ने भी ‘संविधान के महत्व’ पर अपने सारगर्भित विचार प्रकट किए।
महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने ‘संविधान दिवस’ पर अपने विचार प्रस्तुत करते हुए छात्र-छात्राओं का ज्ञानवर्धन किया। उन्होंने संविधान को एक लोकतांत्रिक राष्ट्र की नींव कहते हुए सरकारों को संविधान की प्रस्तावना के उद्देश्यों- स्वतंत्रता, समानता एवं बंधुत्व की भावना पर अमलकर समाज में एकीकरण और सामाजिक सद्भाव की भावना प्रेरित करने को कहा।
संविधान दिवस के सुअवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों एवं छात्र- छात्राओं ने प्रस्तावना की शपथ ली और बेहतर नागरिक बनने के लिए संकल्प लिया।
इस अवसर पर प्रो.मंजू उपाध्याय, डॉ. अजब सिंह, डॉ. गोविंद अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-