Visitors have accessed this post 145 times.

सिकंदराराऊ। सर्वे भवंतु सुखिनः की भावना विश्व शांति एवं संपूर्ण भारतवासियों के अंतर ह्रदय में राष्ट्र प्रेम की भावना, आपसी सद्भाव की मंगल कामना हेतु पंचवर्षीय अखंड हरिनाम संकीर्तन की 21000 किलोमीटर की पदयात्रा पर निकले कनखल हरिद्वार के बीतराग शिरोमणि परम पूज्य स्वामी निर्मल चैतन्य पुरी जी महाराज एवं परम पूज्य स्वामी राजेंद्र पुरी जी महाराज के पावन सानिध्य में निकली हरि नाम संकीर्तन पदयात्रा का सिकंदराराऊ आगमन पर सनातन धर्म महासभा के बैनर तले कासगंज रोड स्थित ममता फार्म हाउस पर पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया।

पूज्यपाद स्वामी निर्मल चैतन्य जी महाराज ने कहा कि हमारा सनातन धर्म हजारों वर्ष पुराना है। आज पूरा विश्व हमारे सनातन धर्म में अपनी आस्था भाव व्यक्त कर रहा है। लेकिन आज हमारे भारत देश का सनातनी अपने उद्देश्य भटक गया है। धर्म विरोधी पाश्चात्य संस्कृति ने विकृति राजनीति के तहत सनातन धर्म को खंड-खंड करने का प्रयास किया। सनातन तो खंड-खंड नहीं होगा लेकिन सनातन का श्राप खंड खंड करने वालों को कभी माफ नहीं करेगा । आज पूरे विश्व में अशांति का माहौल है। पूरा विश्व बारूद के ढेर पर है जो विश्व युद्ध का परिचायक है। सनातन धर्म सदियों से शांति, सद्भाव, प्रेम का मार्ग प्रशस्त रहा है। हम हरि नाम संकीर्तन के माध्यम से संपूर्ण विश्व में भारत के घर-घर में शांति सद्भाव की कामना करते हैं जिस तरीके से पूरा विश्व सनातन धर्म की ओर प्रभावित एवं आकर्षित है। हमारे देश के हर सनातनी हिंदू को अपने धर्म के प्रति आस्था श्रद्धा भाव रखनी चाहिए। यही परमार्थ सेवा है।
तत्पश्चात ओम बाबा मंदिर के पुजारी महंत स्वामी राजेश्वर दास जी के पावन सानिध्य में हरि नाम संकीर्तन पदयात्रा का भ्रमण किया गया।
पदयात्रा में बबलू सिसोदिया, आकाश दीक्षित, चेतन शर्मा, अशोक शर्मा, मनोज नमकीन, नितिन माहेश्वरी ,दुर्गेश पचौरी, तरुण पंडित ,विष्णु माहेश्वरी, रिंकू शर्मा, सोहित दीक्षित, रोहित दीक्षित आदि सनातन धर्म प्रेमी उपस्थित थे। श्री हरि नाम संकीर्तन यात्रा का जगह-जगह पुष्प बरसा कर स्वागत किया गया।
इनपुट : विनय चतुर्वेदी