Visitors have accessed this post 119 times.

हाथरस : मेहनत उसकी लाठी है मजदूरी उसकी काठी है इस विशेष अंदाज में जायंट्स ग्रुप आफ हाथरस गूंज द्वारा श्रमिक दिवस पर सासनी स्थित एक फैक्ट्री में ६० मजदूरों को अँगोछा बिस्कुट एवं जूस की बोतल का वितरण किया ताकि उनको तपती दुपहरी में कुछ राहत पहुंचाई जाए एवं उनके कार्य की सराहना की जा सके ।साथ ही संस्था द्वारा एक फल वाले भाई को छतरी दी गई ताकि वह धूप से बचा रहे।उन श्रमिकों को बाल मजदूरी के विषय में जागरूक किया ।तथा फैक्ट्री पर तुलसी ,कनेर,मीठी नीम व अनार के पौधे लगवाये ।अध्यक्ष दीप्ति वार्ष्णेय ने साधारण भाषा में समझाया कि बाल मजदूरी तथा शोषण से देश की अर्थव्यवस्था को खतरा होता है और इसके बच्चों पर गंभीर ,अल्पकालीन एवं दीर्घकालीन दुष्परिणाम होते हैं जैसे शिक्षा से वंचित हो जाना ,शारीरिक व मानसिक विकास न होना । इसलिए बाल मजदूरी नहीं होनी चाहिए । इस कार्यक्रम में अध्यक्षा दीप्ति वार्ष्णेय ,सचिव माधुरी वार्ष्णेय, कोषाध्यक्ष ऋतु वार्ष्णेय,वाईस प्रेसिडेंट गुंजन दीक्षित ,यूनिट डायरेक्टर सीमा वार्ष्णेय ,कुसुम वार्ष्णेय,चित्रा गोयल,नमिता गोयल,कल्पना वार्ष्णेय मधु शर्मा ,कल्पना वार्ष्णेय आदि उपस्थित रहीं।