Visitors have accessed this post 69 times.

21 फरवरी यानी बुधवार को हल्द्वानी की एक युवती की बारात आनी है। पर इस युवती ने मंगलवार को घरवालों को चौंकाने वाला खुलासा किया कि चार महीने पहले उसकी हल्द्वानी एसडीएम कोर्ट में शादी हो चुकी है। घटना खुलने के बाद लड़की के घर में भूचाल आ गया है। परिजनों को समझ नहीं आ रहा कि इतने कम समय में अब वो क्या करें ? इसी बीच इस युवती ने खुद की जान का खतरा बताते हुए पति को फोन और मैसेज भेजकर मदद मांगी है। पति ने पूरे मामले की शिकायत काठगोदाम थाने और एसडीएम से करके पत्नी की दूसरी शादी रोकने की मांग की है।

पूरा घटनाक्रम एकदम फिल्मी अंदाज में घटा। जानकारी के अनुसार वनभूलपुरा थाने के अंतर्गत रहने वाले एक युवक और काठगोदाम थाने के अंतर्गत रहने वाली युवती का पिछले एक-डेढ़ साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अक्तूबर 2017 में दोनों ने हल्द्वानी एसडीएम कोर्ट में कोर्ट मैरिज की थी। इसके लिए बाकायदा गवाह भी प्रस्तुत हुए। मामला अलग-अलग जातियों का होने के कारण दोनों ने अपने-अपने परिवारों से शादी की बात छुपा ली और युवती मायके में ही रह रही थी। दोनों हर रोज घर से बाहर मिलते थे। युवक ने बताया कि दोनों ने अपने परिवार को डर के मारे शादी की बात नहीं बताई थी और किसी अच्छे मौके के इंतजार में थे। करीब 15 दिन पहले ही युवती के पिता ने उसका रिश्ता मुरादाबाद में कराने की बात बताई तो उसने शादी से मना किया था। बावजूद इसके उसके पिता ने जबरन शादी पक्की करा दी। सोमवार को जबरन उसकी हल्दी भी करा दी। युवती ने रात में भागने का मन बनाते हुए प्रेमी को फोन किया था। साथ ही मैसेज किया था कि अब उसके घरवालों को शक हो गया है कि वह घर से भाग सकती है। उसने यहां तक कहा था कि वह घर के बाहर आते ही रात में उसे फोन करेगी। प्रेमी आधी रात तक उसके फोन का इंतजार करता रहा लेकिन उसका फोन बंद था। आधी रात उसके पास एक दूसरे नंबर से मैसेज आया कि परिवार वालों को पूरी बात पता चल गई है। अब उसे एक कमरे में बंद कर दिया गया है। उसके बाद मंगलवार को दिन भर कोई संपर्क नहीं हुआ तो प्रेमी ने वनभूलपुरा और काठगोदाम थाने में तहरीर दी कि उसकी पत्नी ससुराल में बंधक बना दिया है। उसके साथ कोई अनहोनी हो सकती है। उसे मुक्त कराने की मांग की है।

प्रशासन आज निकालेंगे सर्च वारंटः

प्रेमी ने बताया कि वह बुधवार सुबह एसडीएम कोर्ट से सर्च वारंट निकलवाएगा। इसके लिए पूरे प्रपत्र तैयार कर लिए गए हैं। जरूरत पड़ी तो वह बुधवार को ही हाईकोर्ट में जाएगा। उसका कहना है कि इस समय दोनों की जान खतरे में है।

जांच कर होगी कार्रवाई:

एसओ काठगोदाम बीएल विश्वकर्मा ने कहा कि मामला फिलहाल मेरे संज्ञान में नहीं है। यदि ऐसी कोई तहरीर मिली तो गंभीरता से जांच कर उचित कार्रवाई की जायेगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here