Visitors have accessed this post 75 times.

TV30 INDIA (Input: Sumit Rajput) एनकाउंटर स्पेशलिस्ट एसएसपी अजयपाल शर्मा के चार्ज संभालते ही जिले की पुलिस हरकत में आ गई है। सात दिनों में 6 मुठभेड़ हो चुकी हैं। इनमें 6 बदमाश दबोचे गए हैं, जबकि एक लाख का एक इनामी मारा गया है। रविवार सुबह एनकाउंटर में मारा गया श्रवण चौधरी भी 50 हजार से ज्यादा इनाम राशि वाले वॉन्टेड में शामिल था। दूसरी ओर सिग्मा सेक्टर में रविवार रात हुए एनकाउंटर में पुलिस की गोली से घायल दिनेश 25 हजार का इनामी था। इन दो बड़ी कामयाबियों के बाद अब पुलिस के निशाने पर जिले के 291 बदमाश हैं, जो अलग-अलग थानों में वॉन्टेड हैं। एसएसपी शर्मा ने बताया है कि सभी थानों को टारगेट दे दिया गया है।

आंकड़ों के अनुसार, वांछित बदमाशों में से 105 नोएडा के हैं, जबकि 186 ग्रेटर नोएडा व देहात इलाके के हैं। इन सभी की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी की तरफ से थानेदारों को योजनाबद्ध तरीके से दबिश देने के आदेश दिए गए हैं। एसएसपी के अनुसार, पांच से लेकर एक हजार रुपये वालों पर इनाम की राशि बढ़ाई जा रही है, जिससे उनकी गिरफ्तारी जल्द सुनिश्चित करवाई जा सके। वांछित बदमाशों के अलावा ऐसे अपराधियों की भी सूची तैयार करवाई गई है, जिन पर हत्या, लूट, डकैती व अवैध हथियार रखने के 10 और 5 से अधिक मामले दर्ज हैं। इनके बारे में पता लगाया जा रहा है कि मौजूदा समय में ये लोग कहां हैं। अगर जेल में हैं तो क्या सजा हो चुकी है। अगर नहीं हुई है, तो पुख्ता तरीके से केस लड़ा जाए। अगर बदमाश कोर्ट में पेश नहीं हो रहे हैं, तो उनके जमानतदारों पर कार्रवाई की जाएगी।

एसएसपी ने बताया है कि ऐसी जानकारी मिली है कि केस को लंबा खींचने के लिए कुछ बदमाश बीमारी या अन्य बहाना बनाकर सुनवाई में नहीं पहुंच रहे हैं। बस्ती जेल में बंद रिठौरी के रणदीप भाटी के बारे में भी ऐसी ही शिकायत मिली है। ऐसे बदमाशों की पहचान करके जल्दी सुनवाई पूरी करवाकर उनके केस जल्द से जल्दी निपटाए जाएंगे। इनके अलावा 25 ऐसे बदमाश भी पुलिस के राडार पर हैं, जिन पर अभी न तो इनाम घोषित है और न ही उन पर ज्यादा मामले दर्ज हैं, लेकिन वे बड़े गिरोहों से जुड़े हुए हैं।

50 हजार से ज्यादा के इनामी 
श्रवण चौधरी – एक मीडिया हाउस के जीएम से जीआईपी मॉल के पास गन पॉइंट पर इनोवा गाड़ी लूट का मास्टरमाइंड था। इस मामले में तीन बदमाश एनकाउंटर के बाद पकड़े जा चुके हैं।

अमित कसाना – सुंदर भाटी के विरोधी गैंग व अपने समय के कुख्यात गैंगस्टर रहे नरेश भाटी का भांजा है।

मोनू गुर्जर -कारोबारी कपिल गुप्ता का 2011 में अपहरण कर 5 करोड़ रुपये की फिरौती वसूलने का मास्टरमाइंड है।

शेरू भाटी – गैंगस्टर सुंदर भाटी का भतीजा है। बीजेपी नेता शिव कुमार यादव हत्याकांड में वॉन्टेड है। इस मामले में चाचा सहेदव भाटी व चचेरा भाई अनिल भाटी शामली में गिरफ्तार हो चुके हैं।

अमर सिंह – सुंदर भाटी गैंग का शूटर है। अनिल व शेरू भाटी के कहने पर बीजेपी नेता शिव कुमार यादव समेत तीन लोगों की हत्या में वांछित है।

योगेश भाटी – गैंगस्टर रणदीप भाटी का मौसेरा भाई है, ग्रेटर नोएडा के डाबरा में चमन भाटी व उनके साले की हत्या का आरोप है।

(शिव कुमार यादव की हत्या में 50-50 हजार के इनामी रहे सहदेव भाटी व उसके बेटे अनिल भाटी को इसी महीने शामली में गिरफ्तार किया गया है)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here