Visitors have accessed this post 156 times.

नशा एक ऐसी बुराई है जो हमारे समूल जीवन को नष्ट कर देती है। नशे की लत से पीड़ित व्यक्ति परिवार के साथ समाज पर बोझ बन जाता है। आज कल तो युवा पीढ़ी सबसे ज्यादा नशे की लत से पीड़ित है। सरकार इन पीड़ितों को नशे के चुंगल से छुड़ाने के लिए नशा मुक्ति अभियान भी चलाती है । नशे के रूप में लोग शराब, गाँजा, जर्दा, ब्राउन शुगर, कोकीन, स्मैक आदि मादक पदार्थों का प्रयोग करते हैं। जो स्वास्थ्य के साथ सामाजिक और आर्थिक दोनों लिहाज से ठीक नहीं है। नशे का आदी व्यक्ति समाज की दृष्टी से हेय हो जाता है और उसकी सामाजिक क्रियाशीलता शून्य हो जाती है । फिर भी वह व्यसन को नहीं छोड़ता है। ध्रूमपान से फेफड़े में कैंसर होता हैं । वहीं कोकीन, चरस अफीम लोगों में उत्तेजना बढ़ाने का काम करती हैं । जिससे समाज में अपराध और गैरकानूनी हरकतों को बढ़ावा मिलता है। इन नशीली वस्तुओं के उपयोग से व्यक्ति पागल और सुप्तावस्था में चला जाता है। हाथरस जनपद में भी बहुत नशा करने वाले लोग हैं । और नशा करोबारी भी काफी है। मगर अब कुछ दिनों से नशा करोबारियों के खिलाफ अब पुलिस लगातर कार्यवाही कर रही हैं । हाथरस जनपद के अलग – अलग थानो की पुलिस ने कई नशा कारोबारियों को जेल की हवा खिलाने के लिए उन्हें गिरफ्तार भी किया हैं। अगर हम बात हाथरस जनपद के छोटे से कस्बे मुरसान की करे तो मुरसान में स्मेक का कारोबार ब्यापारी मुहल्ले में होता था जिसकी वजह से वहां के स्थानीय लोग काफी परेशान थे । मुरसान पुलिस ने कार्यवाही करते हुए नशा करोबारी भूरा को जेल भी भेज दिया है।

INPUT – Brijmohan Thinua

यह भी पढ़े : जाने क्यों शव यात्रा मे राम नाम का नारा लगाया जाता है।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave