Visitors have accessed this post 54 times.

उत्तर प्रदेश कै कैराना लोकसभा +सीट पर हो रहे उपचुनाव में बीजेपी ने पूरी ताकत झोंक दी है। अब वहां चुनाव प्रचार करने खुद सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे और उन्होंने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला। सीएम ने कहा कि अखिलेश यादव में दम नहीं है कि वह यहां आकर चुनाव प्रचार करें, क्योंकि उनके हाथ मुजफ्फरनगर दंगों के खून से सने हैं।

सहारनपुर के अंबेहटा पीर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने अखिलेश  पर निशाना साधते हुए कहा कि वह पश्चिमी यूपी के लोगों में अंधविश्वास फैला सकते हैं लेकिन विकास के कामों को लेकर विश्वास नहीं पैदा कर सकते। पहले यहां पलायन होता था, लेकिन अब यहां पलायन नहीं निवेश होगा।

‘कैराना में विकास की जीत होगी’
उन्होंने कहा कि बीजेपी यूपी को डार्क जोन से मुक्त करने जा रहे हैं। विकास का कोई विकल्प नहीं होता है। पिछली सरकारों ने जाति और धर्म के नाम पर लोगों को बांटा था। बीजेपी सबको साथ लेकर चलती है। जातिवाद, मजहब और तुष्टिरण की राजनीति अब बीजेपी को नहीं रोक सकती है। कैराना में विकास की जीत होगी।

योगी  ने कहा कि पिछली सरकारों ने चीनी मिलों को बेच दिया। यह सरकार बंद चीनी मिलें चलवा रही है। बीजेपी सरकार गन्ना किसानों के स्वाभिमान की रक्षा करेगी। किसानों के साथ अत्याचार नहीं होने दिया जाएगा। सीएम ने यह भी कहा कि वह लोगों से निवेदन करना चाहते हैं कि उन्होंने बीजेपी को चुना है।

यह है कैराना और नूरपुर में सियासी समीकरण
बता दें कि कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर 28 मई को वोटिंग होगी और मतगणना के लिए 31 मई की तारीख तय की गई है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद हुकुम सिंह के फरवरी में निधन के बाद कैराना सीट खाली होने के कारण ये चुनाव कराए जा रहे हैं। बीजेपी ने कैराना में हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को प्रत्याशी बनाया है। नूरपुर में दिवंगत विधायक लोकेंद्र सिंह की पत्नी अवनी सिंह को टिकट दिया है। इसी साथ विपक्ष ने यही दांव चलते हुए कैराना में पूर्व सांसद मनव्वर हसन की पत्नी तबस्सुम हसन को टिकट दिया और नूरपुर में 2017 के विधानसभा चुनाव में चंद वोटों से हारे नईमुलहसन को चुनाव में उतार दिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here