Visitors have accessed this post 24 times.

कालपी जालौन आज दिन रविवार को सरस्वती शिशु मंदिर मोहल्ला इन्दिरा नगर मे विजय दसवीं के पावन पर्व पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के द्वारा नगर कार्यवाह प्रदीप पाठक ( बुलबुल पाठक) के संचालन में शस्त्र पूजन कार्यक्रम विधि विधान से सम्पन्न हुआ।
विजयादशमी के शुभ अवसर पर शक्ति रुपा मां दुर्गा मां काली की आराधना के साथ साथ शस्त्र पूजा की परंपरा सदियों से चली आ रही है।
दरअसल यह पर्व भगवान श्री राम की लंकाधिपति रावण पर जीत का उत्सव है।इस दिन शस्त्र पूजन का विधान कोई आज का नहीं बल्कि सदियों से सनातन धर्म में ही इस परम्परा का पालन किया जाता है।
दशहरा पर शस्त्र पूजन क्यों किया जाता है इसकी कई कथाएं प्रचलित हैं। एक कथा के अनुसार राम ने रावण पर विजय प्राप्त करने हेतु नवरात्रि में युद्ध प्रारम्भ किया था ताकि उनमें दुर्गा देवी जैसी शक्ति आ जाए और मां दुर्गा उनकी विजय में सहायक बनें। राम ने दुर्गा जी सहित शस्त्र पूजा कर शक्ति सम्पन्न होकर दशहरा के दिन ही रावण पर विजय प्राप्त की थी। दूसरी कथा के अनुसार इन्द्र भगवान ने दशहरे के दिन ही असुरों पर विजय प्राप्त की थी।
महाभारत का युद्ध भी इसी दिन प्रारंभ हुआ था तथा पांडव अज्ञातवास के बाद इसी दिन पांचाल आए थे। राजा विक्रमादित्य ने भी दशहरा के दिन देवी हरसिद्धि की आराधना की थी। छत्रपति शिवाजी ने भी इसी दिन देवी दुर्गा को प्रसन्न करके तलवार प्राप्त की थी।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा आयोजित शस्त्र पूजन कार्यक्रम में प्रमुख रूप से कालपी विधायक प्रतिनिधि राघवेन्द्र प्रताप सिंह जादौन,भाजपा नगर अध्यक्ष अमित पांण्डेय, विश्व हिंदू परिषद नगर अध्यक्ष जगत यादव, बजरंगदल जिला सह संयोजक दीपक शर्मा ,हिन्दू जागरण मंच अध्यक्ष नीलाभ शुक्ला,
भाजपा महामंत्री सतेन्द्र सिंह चौहान ,सभासद सुरजीत सिंह सभासद प्रतिनिधि आशीष चतुर्वेदी, संदीप पाण्डेय सहित नगर सह कार्यवाह बृजेन्द्र सिंह चौहान, बजरंगदल अध्यक्ष हर्ष विश्नोई अनिल आचार्य जी,संघ से प्रमुख रूप से ऋषि जी,अरुण शास्त्री,लल्लू राम जी, बनारसी दास विश्नोई, के अतरिक्त योगेश द्विवेदी, मनोज पाण्डेय , विवेक तिवारी, गिरजा शंकर बुधौलिया,जय कांत पुरवार,अवधेश तिवारी,सभासद मंयक श्रीवास, सहित भारी संख्या में उपस्थित हिन्दू संगठनों एवं सज्जनों ने शस्त्र पूजन किया और और एक दूसरे को मिलकर विजयादशमी के इस पावन पर्व पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी

input : vishnu pandey

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here