Visitors have accessed this post 35 times.

विकास खंड सासनी परिसर में कृषि
सूचना तंत्र के सुदृढीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्रक्रम के अंतर्गत विकास खंड कृषक प्रक्षिण एवं किसान गोष्ठी का अयोजन किया गया। जिसमें कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को खेती के गुर और बढती जनसंख्या के आधार पर उन्नत फसल की पैदावार के बारे में जानकारी दी।
बुधवार को आयोजित कृषि प्रशिक्षण के दौरान मृदा परीक्षण प्रयोगशाला इंचार्ज सोमवीर सिंह ने किसानों को बताया कि किसी भी फसल को बुआई करने से पहले उसके उत्तम बीज के साथ मृदा परीक्षण अवश्य करा लेना चाहिए। जिससे खेती में होने वाली बीमारी के बारे में पता लगाया जा सके और बीमारी का उपचार किया जा सके। अनिल उपाध्याय ने किसानों को नवीनतम जानकारी उपलब्ध कराते हुए बढती जनसंख्या के परिपे्रक्ष्य में अधिक खाद्यान्न की आवश्यकता और किसानों की आय में वृद्धि के बारे में जानकारी दी। वहीं अन्य कृषि वैज्ञानिकों ने भी किसानों को खेती के गुर सिखाते हुए बढती जनसंख्या पर रोक लगाने की जानकारी दी। गोष्ठी में कृषि वैज्ञानिकों के साथ एग्रो कृषि, उद्यान, पशुपालन, सहकारिता, सिंचाई, विद्युत आदि अफसरों ने भी जानकारी दी। इस दौरान उपकृषि निदेशक एसएन सिंह, जिला कृषि अधिकारी डिपिन कुमार, योजना प्रभारी सीपी शर्मा, प्रगतिशील किसान नरेन्द्र शर्मा, सुधीर पाठक, हरीमोहन तिवारी, सेवानिवृत प्रमोद सेंगर, हेम सिंह ठेनुआं, आदि मौजूद थे। कार्रक्रम कस सफल संचालन डा. जेके शर्मा, प्रभारी उपसंभागीय कृषि प्रसार अधिकारी ने किया।

INPUT – Avid hussain

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here