Visitors have accessed this post 35 times.

सासनी : सामाजिक कुरीतियों की वजह से भारतीय महिलाओं की सामाजिक स्थिति आज इक्कीसवीं सदी में भी कोई खास नहीं बदली है। आज भी नेतृत्व और विकास के मामले में उनका प्रतिशत पुरूषों की तुलना मे काफी कम है। लगातार घटता लिंगानुपात, स्त्रीयों के प्रति होने वाले अपराध में बढ़ोतरी और उनके शोषण की घटनाओं में वृद्धि हो रही है। सरकार महिलाओं को सशक्त करने के लिए लगातार कई योजनाएं ला रही है।
यह विचार सासनी विद्यापीठ इंटर कालेज सासनी में चल रहे कार्रक्रम नई रोशनी के अंतर्गत अल्पसंख्यक महिलाओं के लिए सरकार द्वारा जारी योजनाओं के तहत प्रशिक्षण के दौरान श्री राम ग्राम सेवा संस्थान की सचिव श्रीमती सुनीता वाष्र्णेय ने प्रकट किए। उन्होंने बताया कि नईरोशनी कार्रक्रम का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक महिलाओं में नेतृत्व क्षमता का विकास करना है। श्रीमती वाष्र्णेय ने बताया कि करीब प्रशिक्षण 125 से अधिक महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मंगलवार को महिलाओं और युवतियों ने पोस्टर एवं मेंहदी प्रशि़क्षण लिया। प्रशिक्षण के बाद प्रतियोगिता में विजयी होने वाली महिलाओं और युवतियों को स्काॅलरशिप में भी जांचा जाएगा तथा प्रमाणपत्र दिए जायेंगे। इस दौरान चैल्वी शर्मा, सुनील वाष्र्णेय, संजीव कुमार, डा. राजीव अग्रवाल, तथा विद्यालय के शिक्ष़्ाक एवं शिक्षिकायंे मौजूद थी।

input : avid hussain

यह भी देखे : हाथरस के इस मॉल में मिलता है घर का सारा सामान भारी छूट पर

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here