Visitors have accessed this post 48 times.

जालौन : योगी सरकार ने भले ही भू माफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए एन्टी भूमाफिया टास्क फोर्स जैसी टीमों का गठन करके भूमाफियाओं के खिलाफ पोर्टल पर शिकायत करने जैसी सुविधाएं प्रदान की हों किन्तु भूमाफियाओं के हौंसले किस कदर बुलन्द हैं ।
ताज़ा मामला जनपद जालौन के कोतवाली कालपी क्षेत्र के अंतर्गत जोल्हूपुर मोड़ का है, जहां आरोप के मुताबिक विधवा गीता देवी की लाखों की बेशकीमती भूमि पर मिर्जामंडी कालपी निवासी जीतेन्द्र, गंगाराम व राजाबाबू प्रनामी ने जबरन कब्ज़ा किया तो पिछले 2 साल से लगातार गीता देवी शासन प्रशासन से मदद की गुहार लगाती हुई दर दर भटकती रहीं, किन्तु दबंगों के दबाव के चलते प्रशासन भी चुप्पी साधे रहा, माफियाओं ने इस दरमियान विवादित भूमि पर 30 दुकानों का पूरा का पूरा आलीशान मार्केट तैयार कर लिया। बीते 18 जून को पीड़िता गीता जिलाधिकारी मन्नान अख्तर के पास मामले की शिकायत लेकर पहुचीं और पूरा वृतांत सुनाते हुए हताश होकर बोलीं कि यदि सुनवाई नही हुई तो वे 25 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर आत्मदाह कर लेंगी।
जिलाधिकारी मन्नान अख्तर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच कराई तथा तत्काल प्रभाव से मार्केट की वीडियोग्राफी करवाकर विवादित भूमि पर निर्माण कार्य पर पूर्णतः रोक लगाए जाने के निर्देश दिए। तब रविवार को न्यायप्रिय कोतवाली इंचार्ज सुधाकर मिश्रा, नायाब तहसीलदार पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुँचे व मार्केट की वीडियोग्राफी करवाकर जिम्मेदारों को विवादित भूमि पर किसी भी तरह का कोई भी कार्य ना करवाये जाने की सख्त चेतावनी दी।
दो साल बाद निर्माण कार्य भले ही रुक गया हो किन्तु यदि निर्माण अवैध था तो दो साल या कहें कि मार्केट बनने तक शासन प्रशासन द्वारा पीड़िता के द्वारा शिकायत करने के बाद भी कार्यवाही ना किया जाना कई सवाल खड़े करता है।

इनपुट : विष्णु पाण्डेय

यह भी देखे-

अक्षय कुमार की आने बाली फिल्म गोल्ड का आया ट्रेलर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here