Visitors have accessed this post 47 times.

सासनी : गांव रघनियां में पुत्र और पुत्रवधू की मौत के बाद लाचार पिता अब अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा है, आधारकार्ड में बारठ वर्ष के वृद्ध को 48 वर्ष का कर दिया है, जिससे वह अपनी उम्र के सत्यापन के लिए प्रशासनिक अफसरों के चक्कर लगा रहा है। बता दें कि कुछ दिन पूर्व गांव रघनिया में एक दंपत्ति की मौत हो गई थी। जिसमें मृतकों ने अपने पीछे चार बच्चों के साथ अपने बूढे पिता को बिलखते छोडा था। पिछले मंगलवार को तहसील परिसर में जब वृद्ध गुहार लेकर आया तो बच्चांे पर जब पुलिस कप्तान की नजर पडी तो उनका दिल भर आया और बच्चों के लिए एसएचओ गौरव सक्सैना से कहकर पहनने के कपडे तथा जूते एवं खाने की सामिग्री उपलब्ध कराई। मगर वृद्ध की असल समस्या की सुनवाई नहीं हो सकी। दिनांक 8 फरवरी दिन मंगलवार को पीडित वृद्ध फिर प्रशासनिक अफसरों के पास आ गया और अपनी पीडा सुनाने लगा। बृद्ध ने अपनी पीडा बताते हुए कहा कि उसकी उम्र करीब बासढ वर्ष है। मगर आधार में उसकी उम्र 48 दर्शाई जा रही है। जिससे उसे किसी प्रकार से वृद्धावस्था का लाभ नहीं मिल पा रहा है। वहीं एसडीएम राजकुमार यादव ने बताया कि उम्र का सत्यापन आधार कार्ड धारक के पास शैक्षिक योग्यता का कोई प्रमाण पत्र हो या फिर सीएमओ ही उम्र का निर्धारण कर सकते है। इसके लिए संबधित अफसरों को निर्देशित किया गया है।

इनपुट :- आविद हुसैन

यह भी पढ़े : बनाया अपने रिश्ते को और भी मजबूत अपनाये यह तरीके

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here