Visitors have accessed this post 44 times.

सासनी : किसानों के आंदोलन को तीन महीने पूरे होने वाले हैं। किसान तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं, वहीं संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 18 फरवरी को देशभर में रोल रोको कार्यक्रम में सभी से शांतिमयी प्रदर्शन की अपील की गई थी। जिसमें दोपहर 12 से 4 बजे तक रेल रोकने का कार्यक्रम रखा गया और देशभर से समर्थन की उम्मीद जताई थी। मगर एसएचओ गौरव सक्सैना ने पहले ही अपना मोर्चा जमा लिया। जिससे सासनी में किसानों का रेल रोको आंदोलन सफल नहीं हो सका।एसएचओ गौरव सक्सैना ने बताया कि किसानों के सासनी रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर रेल रोको आंदोलन के तहत एकत्र होने की आशंका थी। मगर किसान जब नेताओं से बात की गई तो किसान नेताओं ने उन्हें बातया कि यहां किसानों को ऐसा कोई इरादा नहीं है, कि आंदोलन का रूप देकर किसी कार्र में बाधा डाली जाए। वहीं किसान नेता मलखान सिंह ने बताया किसान आंदोलन के लिए वह सदैव तैयार रहते हैं मगर किसी उपद्रव जैसी घटनाओं को लेकर आंदोलन का रूप दिया जाए तो वह गलत है, उन्होंने कहा आंदोलन कोई हो मगर शांतिपूर्ण होना चाहिए।सरकार को चाहिए कि किसानों के हित में अवश्य सोचकर अपनी बात रखे। वहीं एसएचओ शाम चार बजे तक मयफोर्स के रेलवे स्टेशन पर मुस्तैदी से ड्यूटी निभाते रहे। जिससे किसानों का रेल रोको आंदोलन कामयाब नहीं हो सका।

इनपुट :- आविद हुसैन

यह भी पढ़े : मनुष्य के पाप कर्मों द्वारा मिलने वाली सजाएं

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here