Visitors have accessed this post 279 times.

सासनी : सोमवार से कस्बा के आशानगर स्थित ख्वाजा सूफी हाफिज अलाउद्दीन हसन बिलाली की दरगार पर चल रहे पच्चीस वें उर्स के दौरान चैथे रोज संदल व गुसल शरीफ का प्रोग्राम किया गया। जिसमें तमाम अकीकतमंदों ने शिरकरत कर मुल्क और कौम के लिए अमन-ओ-चैन की दुआ मांगी।
जुमेरात को उर्स के दौरान संदल व गुसल शरीफ के प्रोग्राम में मिनाजिब सज्जादा गद्दी नशीन सूफी डा. इरशाद हसन बिलाली अपने सूफियाना लिवास में अन्य सूफियों के साथ मुल्क और कौम के अमन-ओ-चैन की दुआ करते हुए चल रहे थे। वहीं बैंडबाजों की धुनों अपर तमाम अकीकतमंद उन्हें सजदा करते हुए चल रहे थे। संदल जुलुस में मलंग बाबा अपने हैरतंगेज करतब दिखा रहे थे। जुलुस ख्वाजा सूफी हाफिज अलाउद्दीन हसन बिलाली की दरगाह से शुरु होकर मोहल्ला कस्साबान, सीताराम मार्केट, अयोध्या चैक , गांधी चैक, कमला बाजार, बस स्टैण्ड, सैंट्रल बैंक, जूनियर हाईस्कूल, बच्चा पार्क, के एल जैन इंटर कालेज, शिक्षकनगर कोलोनी मार्ग, कोतवाली चैराहा, बिजहारी होते हुए पुनः दरगाह पहुंचकर गुसल शरीफ के साथ संपन्न हुआ। संदल जुलूस में तमाम जाहिरीनों ने शिरकत की। इस दौरान कमेटी के इरफान हसन बिलाली, दिलशाद हसन बिलाली, बदरुज्जमा शम्स, मास्टर कल्लू हसन, निजाम कुरैशी, बहादुर खॉ, बाबू खॉ, सद्दाम हुसैन, बली मौहम्मद, लालो भाई, आबिद हुसैन, पप्पू हसन, इकबाल खां, अख्तर, ब्रजेश प्रधान, कमरूद्दीन, उस्मान एण्ड पार्टी, तौसीब, आदि आदि के अलावा सैकड़ों अकीकतमंदों ने शिरकत की। वहीं सुरक्षा की की कमान प्रभारी निरीक्षक गौरव सक्सैना कस्वा इंचार्ज सतीश चन्द्र यादव अपने दलबल के साथ संभाले हुए थे।

यह भी पढ़े : महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है , और इसका हमारे जीवन में क्या महत्व है ।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp