Visitors have accessed this post 82 times.

सासनी : प्रदेश में कोरोना वायरस के भय और कोरोना कर्फ्यू एंव सोशल डिस्टेंसन के चलते ईद की नमाज मुस्लिम समाज के लोगों ने घरों में ही अता फरमाई। घरों में नमाज पढकर लोगों ने मुल्क और कौम की सलामती के लिए दुआ की। बता दें कि कोरोना वायरस के लगाए गये कोरोना कर्फ्यू के दौरान ईद का त्यौहार फीका रहा, ईदगाह सूनी पडी रहीं। लोगों ने घरों में ही नमाज अता की, प्रदेश सरकार के आदेशानुसार ईदगाहों पर भीड न हो इसके लिए सुबह से ही ईदगाहों पर प्रभारी निरीक्षक गौरव सक्सेना कस्वा इचार्ज एसआई विपिन यादव पुलिस फोर्स के साथ तैनात खड़े हुए थे।। शहर की नूरी मस्जिद, जामा मस्जिद, पर भी एसआई शांतिशरण यादव दलबल सहित तैनात थे। जिससे इन जगहों पर भीड न इकठ्ठी न हो सके। मुस्लिमों ने घरों में नमाज अता की और एक दूसरे से गले न मिलकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए एक दूसरे को मुबारकबाद दी। नूरी मस्जिद के मौलाना हाफिज सज्जाद ने कहा कि आज देश पर कोरोना वायरस का कहर बरस रहा है, उसके लिए वह देश के लिए हर संभव सहयोग के लिए तैयार है। उन्होंने खुद ईदगाहों पर न जाकर घरों में ही परवरदिगार को कोरोना वायरस के खात्मे के लिए दुआ की है। यहां तक कि बच्चों ने भी अपने बालिदों के साथ घरों में नमाज अताकर देश के प्रति अपनी देशभक्ति का इजहार किया। इस दौरान हनीफ संदली, डॉ. इरशाद हसन शाह बिलाली, उसमान खॉ, ताहिर अहमद, सलीम खॉ, मास्टर कल्लू हसन, साबिर, इकबाल अहमद, रफीक अल्वी, आकिल अल्वी, पप्पू खॉन, आदि मौजूद थे।

यह भी देखे : इन चीजों का करे सेवन, इम्यूनिटी सिस्टम होगा तेज

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

sasni new wave