Visitors have accessed this post 235 times.

 

हसायन : खंड विकास अधिकारी ने बताया कि चारागाह भूमि का क्षेत्रफल 2.864 हे0 है। पिछले वित्तीय वर्ष में लगभग 2000 पौधों का रोपण किया गया था। इस वित्तीय वर्ष में पौधा रोपण हेतु 2058 गड्डे खोदे गए हैं। तथा वर्षा का पानी एक़त्र करने हेतु ट्रेंच का निर्माण किया गया है। पिछले वित्तीय वर्ष में लगाये गये पौधों में से अधिकांश पौधे उचित देखरेख न होने के कारण सूख जाने पाने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये परियोजना निदेशक को किसी भी स्थान पर वृक्षारोपण कराने से पूर्व उसके आसापास तार के माध्यम से फेसिंग कराने एवं पौधों को समय-समय पर पानी दिये जाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिये।इसके पश्चात् जिलाधिकारी रमेश रंजन ने विकासखंड हसायन के ग्राम पंचायत नगला पट्टी देवरी में वृक्षारोपण एवं तालाब निर्माण हेतु चिन्हित चारागाह की भूमि का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान परियोजना निदेशक अश्वनी कुमार मिश्र ने बताया चारागाह का क्षेत्रफल लगभग 24 हे0 भूमि जिसमें से 1.50 हे0 भूमि पर वृक्षारोपण हेतु गड्ढे एवं सिंचाई हेतु ट्रेंच का निर्माण किया गया है।जिलाधिकारी ने वृक्षारोपण से पूर्व चारागाह की भूमि की पैमाइश कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण एवं तालाब निर्माण से पूर्व कार्य योजना तैयार कर लें कि कहां पर वृक्षारोपण किया जाना है तथा कहां पर तालाब का निर्माण किया जाना है। जिससे कि अनावश्यक रूप से भूमि की बर्बादी ना हो साथ ही साथ उन्होंने रास्ते का निर्माण भी कराने के निर्देश दिए जिससे की भूमि का सही ढंग से उपयोग हो सके।निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी आ0बी0 भास्कर, उप जिलाधिकारी सिकंदराराऊ मनोज कुमार मिश्र, तहसीलदार राकेश चंद्रा, लेखपाल, ग्राम प्रधान, सेक्रेटरी आदि उपस्थित रहे।

 

इनपुट : यतेन्द्र प्रताप

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave