Visitors have accessed this post 252 times.

सादाबाद : सादाबाद की रहने वाली बेसिक शिक्षा विभाग में तैनात एक शिक्षिका विजय लक्ष्मी शर्मा पत्नी उमेश कुमार पचौरी ने अंकित पाराशर पुत्र सुरेंद्र पाराशर निवासी मोहल्ला कस्बा कोठीद्वार सादाबाद सहित अन्य 8 के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था की वह जनपद एटा लोहचा के विद्यालय में हेड मास्टर के पद पर तैनात है महिला का आरोप था अंकित पाराशर काफी लंबे समय से अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसका आर्थिक व मानसिक उत्पीड़न कर रहा था महिला ने बताया था कि 2017 में उसके पति बिजनेस के काम से बाहर गए थे उनका बड़ा बेटा दिल्ली में पढ़ाई करता था छोटा बेटा उसके साथ रहता था, तभी अंकित पाराशर का उसके घर पर आना जाना शुरू हो गया और अंकित ने धोखाधड़ी से कुछ कागजात पर साइन करा लिए और अपने दोस्त सचिन पाराशर को गारंटर बना कर एचडीएफसी बैंक से 12 लाख रुपया का लोन करा लिया था और उस पैसे को अंकित ने अपनी दुकान में लगा दिया था इतना ही नहीं अंकित मोबाइल व दो एटीएम कार्ड भी छीन कर ले गया था और धमकी देता था अगर किसी से शिकायत की तो वह बीच बाजार उसे अपमानित करेगा उसके पूरे परिवार की हत्या कर देगा, जब भी उससे एटीएम कार्ड वापस मांगना चाहा तो वह धमकी देता था, इसकी शिकायत 10 जनवरी को महिला ने अंकित के पिता से भी की थी उन्होंने भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया था, शिक्षका का कहना है कि कहीं अंकित बूलगढ़ी कांड जैसी कोई घटना ना कर दे इसलिए उसने अपने परिवार की भी सुरक्षा मांगी थी, शिक्षिका की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया था और तभी से अंकित और अन्य आरोपियों की तलाश थी, मामले की जांच क्राइम ब्रांच के द्वारा की जा रही थी,आज क्राइम ब्रांच के द्वारा अंकित को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से न्यायालय ने उसे जेल भेज दिया है। अंकित पराशर वर्तमान में युवा कांग्रेस का जिलाध्यक्ष व नगर पंचायत का सभासद भी है।

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave