Visitors have accessed this post 53 times.

कोच जालौन भक्त जब परमात्मा को मन से ह्रदय से पुकारता है तो परमात्मा दौडा चला आता है भगवान यानि परमात्मा प्रेम श्रद्धा और भाव का भूखा है वनावटी छली कपटी लोग प्रभू को विल्कुल रास नही आते उक्त उदगार व्यक्त किये आचार्य पं पंकज दीक्षित मानस जी महाराज चित्रकूट धाम ने वे यहाँ से 7 किमी दूर ग्राम पचीपुरी मे भगवद प्रेमियो को भगवद नाम रूपी कथा का अमृतपान करा रहे है उन्होने भगवद प्रेमियो को उदाहरण देते हुये भगवद भक्ति के वारे मे बताते हुये कहा प्रहलाद ने ह्रदय से पुकारा भगवान खम्भा फाडकर प्रकट हो गये ध्रुव ने मन से बुलाया प्रभू ने दर्शन दिये द्रोपदी ने द्वारिकाधीश को द्वारिका से बुलाया उन्होने आकर उनकी रक्षा की भीलनी यानि शबरी ने प्रेम से भक्ति की प्रभू ने दर्शन तो दिये ही उसके जूठे बेर खाये ऐसे एक नही अनेको उदाहरण है कि जब जिसने भाव पूर्वक उनको याद किया वे भक्त के सामने प्रकट हो गये इस धार्मिक आयोजन मे पारीक्षित की भूमिका मे कथा का अमृतपान कर रहे श्रीमती रानी देवी पटेल मूलचन्द पटेल पचीपुरी और सहयोग कर्ता व कथा श्रवण करने वालो मे हरिओम पटेल संजीव पटेल सिद्धांत पटेल कार्तिक पटेल अंश पटेल अवधेश पटेल सेवा निवृत्त प्रवक्ता रामप्रकाश अग्निहोत्री महेश गुप्ता रवि चरण मिश्रा लाल जी बाबा रतनपुरा रामस्वरुप पटेल लालाराम अहिरवार श्याम मिश्रा और वरन वनकर मौन पाठ करने वालो मे राधेश्याम पचौरी अरूण पचौरी अशोक शुक्ला राजू अग्निहोत्री आदि उपस्थित रहे
INPUT – विवेक द्विवेदी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here