Visitors have accessed this post 48 times.

रायबरेली :  देश को आजाद करवाने के लिये अमर शहीदों के बलिदान को हम तब सच्ची श्रद्धांजलि नही दे सकते हैं जब तक हम धर्म व जाति पर न लड़कर एकजुट होकर देश का नवनिर्माण करें। यह बात आज कमला फाउंडेशन की अध्यक्ष पूनम सिंह ने कार्यक्रम के दौरान लोगों को सम्बोधित करते हुए कही।

पूनम सिंह ने बतौर मुख्यातिथि रायबरेली कान्वेंट स्कूल व मलिकमऊ में अमर शहीद शैलेन्द्र सिंह द्वार के पास श्री मलिकेश्वर महादेव मंदिर के समक्ष आयोजित ध्वजारोहण कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची।

रायबरेली कान्वेंट स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचने पर पूनम सिंह का जोरदार स्वागत किया गया। कार्यक्रम में नन्हे मुन्ने बच्चों द्वारा देशभक्ति गानों पर मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए। वहीं पूनम सिंह ने ध्वजारोहण के बाद बच्चों पुरस्कृत भी किया। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि हमारे देश की आजादी को आज 75 साल पूरे हो गए हैं। देश को आजाद कराने के लिए जिन शहीदों ने बलिदान दिया और बहुत कष्ट सहे उन्हें आज याद करने का दिन है।

उन्होंने कहा कि आज के समय में जो युवा पीढ़ी लोकतंत्र के महत्व को बेहतर ढंग से नहीं जानती हैं। कई विचारधारों में बंटी यह पीढ़ी गुमराही के एक चौराहे पर खड़ी है। ऐसे में उसे अपने देश के इतिहास और वर्तमान से जोड़ना जरूरी है।

 

उन्होंने कहा कि भारत को आजाद कराने के लिए किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा और क्या-क्या कुर्बानियां शहीदों को देनी पड़ी यह आज की युवा पीढ़ी को जानना जरूरी है। साथ ही यह भी कि आने वाले समय में किन चुनौतियों का सामान करना पड़ेगा।

मलिकमऊ के शहीद गेट पर आयोजित कार्यक्रम में ध्वजारोहण करने के बाद पूनम सिंह ने अमर शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह की पत्नी वीरांगना चांदनी सिंह व उनके परिवार को शाल व तिरंगा झंडा देकर सम्मानित किया व भविष्य में हर समय उनके परिवार के साथ खड़े रहने का वचन भी दिया। इसके उपरांत पूनम सिंह ने इंटर में टॉप करने वाली सुप्रिया यादव व तैराकी में प्रथम आने वाले धीरू केवट को पुरस्कार के तौर पर स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।

कार्यक्रम में पूनम सिंह के साथ पहुंची पूर्व सभासद व कवियत्री सिमस्ता बृजेश ने भी मंच अपने अपने विचार रखते हुए कहा कि हम लोगों ने आज ही के दिन 1947 में गोरों से तो मुक्ति पा ली थी लेकिन आज हम काले अंग्रेजों की दासता में फंसे हैं। इस दासता से निकलने के लिये हमें सही व्यक्ति का चयन करना होगा जिसके हाथ में हम अपने देश, प्रदेश, शहर व गाँव की सरकार देंगे। तभी हम देश का अच्छे से निर्माण कर सकेंगे।

स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में फबीना, हमदान, अबिया,आईजा चिकारा, शरीफा, सितारा, समीरा, नबीहा, जहान, राहत आसिफ, माज, यासीन, ऋषभ राज, साहिब, हमद, जीनत, अलमाज, असद, मुसाब, अबार तालिब, सहीजा, अरीबा, अकीफा,अलीना, जीनत आदि बच्चों ने मनमोहक प्रस्तुतियां प्रस्तुत की।

कार्यक्रम के दौरान मंच संचालन संदीप पाठक ने किया। उनके साथ अरविंद केवट, राजकुमार गुप्ता, सीपी मिश्रा, दिलीप अग्रहरि, रोहित पांडे सभासद, अशोक कुमार चौधरी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे। वहीं स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में स्कूल प्रबंधक ज़ाकिर खान, प्रिंसिपल रेहाना खातून, मेडम जेनाब, खुशनुमा, अलीशा, सारिका, पलक, अदृषिका, अमना, शगुफाई, ज्योति व मयंक सर उपस्थित रहे।

Ravindra singh copy