Visitors have accessed this post 119 times.

हाथरस : 26 नवंबर 2008 को देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई पर हमला करने वाले आतंकियों को पस्त करने वालों में बुलंदशहर के गांव भटौना निवासी मरीन कमांडो प्रवीण कुमार तेवतिया की बड़ी भूमिका रही थी । एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक हृयूमन राइट्स के केन्द्रीय प्रशासनिक कार्यालय पर मरीन कमांडो प्रवीन कुमार तेवतिया का स्वागत-सम्मान किया गया स्वागत में बोलते हुए मरीन कमांडो प्रवीन तेवतिया ने बताया कि ताज होटल से डेढ़ सौ से अधिक लोगों के प्राणों की रक्षा करने पर शौर्य चक्र से नवाजा गया । चार गोली लगी थीं। लंबे समय तक अस्‍पताल में रहा। योग, प्राणायाम और प्रबल इच्छाशक्ति के बूते खुद को पूर्ण रूप से स्‍वस्‍थ किया। विश्‍व की सबसे कठिन स्‍पर्धा मानी जाने वाली आयरनमैन में सफलतापूर्वक हिस्‍सा लेना शुरू किया। नौसेना से वर्ष 2017 में सेवानिवृत्त होने के बाद देश सेवा के एक और मिशन पर निकल पड़े। अधिक से अधिक लोगों खासकर युवाओं को सेहतमंद बनाने को अपना लक्ष्य बनाया है। अब इस प्रयास को फिट इंडिया ने भी सराहते हुए अपना ब्रांड एम्बेसडर घोषित किया है।
प्रवीण तेवतिया बताते हैं कि ताज होटल में 26/11 आपरेशन के दौरान उन्हें चार गोली लगी थीं। एक फेफड़ा डैमेज हो गया था। कई साल तक उनका इलाज चला। लेकिन मौजूदा सरकार का कोई नुमाइंदा मिलने तक नहीं आया इलाज के साथ उन्होंने योग और प्राणायाम को अपनाया। इससे वह शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत हुए। उन्होंने लंबे समय तक दवाएं खाने और कई शारीरिक समस्याओं के होते हुए भी दुनिया की सबसे कठिन आयरनमैन स्पर्धा के लिए खुद को तैयार किया। इसमें 3.8 किलोमीटर समुद्र में तैराकी, 180 किलोमीटर साइकिलिंग और 42.2 किलोमीटर दौड़ को एक के बाद एक पूरा करना होता है। वर्ष 2012 में इसके लिए तैयारी शुरू की। कई मैराथन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया और उन्हें पूर्ण किया। 2015 में मुम्बई में मैराथन, मुम्बई में ही 2016 में हुई हाफ मैराथन, 2017 में जयपुर और गोवा ट्रायथलान को पूर्ण किया। सितंबर 2017 में लद्दाख में बहुत कठिन 72 किलोमीटर लंबी खरदुंगला मैराथन को पूरा किया। खरदुंगला में ऑक्सीजन का स्तर काफी कम होता है और कमजोर हो चुके फेफड़े से इसे पूरा करने पर विशेषज्ञ भी आश्चर्य जताने लगे थे।
प्रवीण तेवतिया का दावा है कि वे विश्व के अकेले व्यक्ति हैं जो कमजोर हो चुके फेफड़ों से आयरनमैन पूरी करने में सफल रहे हैं। अभी तक दक्षिण अफ्रीका, मलेशिया और अमेरिका में हुई आयरनमैन प्रतियोगिता के फिनिशर रहे हैं। कहते हैं कि आयरनमैन प्रतियोगिता शारीरिक और मानसिक दोनों ताकत का परीक्षा लेती है, क्योंकि इसमें लगातार पंद्रह घंटे से अधिक समय तक हिस्सा लेना पड़ता है।
वर्ष 2017 में सचिन तेंदुलकर द्वारा टीवी कार्यक्रम के लिए उनका इंटरव्यू ले चुके हैं। इसी के साथ 2018 में अमिताभ बच्चन के कौन बनेगा करोड़पति के कर्मवीर एपिसोड में में भी उन्होंने हिस्सा लिया था। इस दौरान उनके संस्मरणों को दर्शकों ने बहुत पसंद किया था।
प्रवीण तेवतिया कहते हैं सिक्स पैक एब्स बनाना बहुत मुश्किल नहीं है। आप खाने से कार्बोहाइड्रेट निकाल दें तो सिक्स पैक एब्स दिखाई देने लगेंगे, लेकिन इसके लिए कृत्रिम उपायों का सहारा न लें। युवाओं को दवाओं और बाजार में बिकने वाले प्रोटीन आदि पर भरोसा नहीं करना चाहिए। इसके प्रयोग से हानि भी हो सकती है। शाकाहारी प्रवीण कहते है कि मांस का सेवन न करने वाले भी सिक्स पैक एब्स बना सकते हैं। दूध, दही, हरी सब्जियों का डाइट चार्ट के अनुसार सेवन करें। फास्ट फूड और बाजार में बिकने वाले अन्य उत्पादों से परहेज करें। चीनी का कम से कम सेवन करें तो इस संतुलित डाइट के माध्यम से आप पूर्ण रूप से स्वस्थ रहते हुए बेहतर बॉडी और सिक्स पैक एब्स बना सकते हैं।
प्रवीण तेवतिया कहते हैं कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए युवाओं के साथ-साथ हर उम्र के व्यक्ति को योग और प्राणायाम के साथ-साथ आठ से हजार स्टेप जरूर चलना चाहिए। यह आपको स्वस्थ्य रखने में बड़ी सहायता करेगा, क्योंकि इससे भोजन पचाने में बहुत सहायता मिलती है।प्रवीन तेवतिया के साथ पतंजलि राज्य प्रभारी विपिन आर्य, भारत स्वाभिमान जिला प्रभारी रिषी कुमार, युवा राज्य प्रभारी डा.एस.पी.सिंह, युवा जिला प्रभारी विक्रम सिंह उपस्थित रहे

  सम्मान समारोह में राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वार्ष्णेय, राष्ट्रीय प्रवक्ता देवेन्द्र गोयल, जिलाध्यक्ष डा. पी.पी.सिंह, नवीन गुप्ता, अनिल अग्रवाल, राजेश वार्ष्णेय, बाल प्रकाश वार्ष्णेय, अमन बंंसल, निखिल वार्ष्णेय, तुषार वार्ष्णेय, मदन लाल, आदि उपस्थित रहे |

INPUT - VINAY CHATURVEDI