Visitors have accessed this post 125 times.

हाथरस। 108 ज्ञान सागर जी महाराज की शिष्या 105 आर्यिका आर्षमति माताजी का चैमासा हाथरस को न मिलने पर महिला, बालिका व पुरूषों की भी अश्रुधारा बह निकली थी। श्री जैन नवयुवक सभा द्वारा इगलास बाईपास रोड स्थित श्री राजमोहन फार्म हाउस के हाॅल में श्रीफल अर्पण व सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। उद्घाटन मुख्य अतिथि पालिकाध्यक्ष श्वेता चैधरी, पूर्व सांसद राजेश दिवाकर ने आर्षमति माताजी के चरणो में श्रीफल भेंट करके किया था। समारोह का शुभारंभ उमेश चंद्र जैन, सीए शुभम जैन, अंकित जैन, रूबी जैन द्वारा संयुक्त रूप से फीता खोलकर किया था। मुख्य अतिथि के अलावा अन्य अतिथियों का श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन, महामंत्री संजीव जैन भूरा, कोषाध्यक्ष कमलेश जैन, मंत्री सुधीर जैन, नयागंज नेमिनाथ दिगंबर जैन मंदिर अध्यक्ष संदीप जैन जैन ज्वेलर्स सहित अन्य लोगों द्वारा दोनो का दुपट्टा पहनाकर भव्य स्वागत किया था। आर्षमति माताजी ने भी दोनो को अपने हाथो से जहाॅ पुस्तक देकर उन्हें सम्मानित किया था वही उनके हाथो से एक पुस्तिका का भी विमोचन कराया था। आर्षमति जी के दर्शन के लिए पहुंचे भाजपा नेता मनोज अग्रवाल राया वाले, हर्ष मित्तल, मनीष मित्तल, विकास गर्ग, सुनील बंसल, निस्वार्थ सेवा संस्थान अध्यक्ष सुनील अग्रवाल, नीरज अग्रवाल, श्री राजमोहन फार्म हाउस संचालक दीपक गुप्ता सहित अन्य लोगों का भी श्री जैन नवयुवक सभा द्वारा भव्य स्वागत किया था। स्मरण हो कि आर्षमति माताजी ने ससंघ 28 मई को हाथरस में भव्य रूप से प्रवेश किया था। वह हलवाई खाना स्थित संत भवन में ठहरी हुई है इस बीच माताजी ने पहली बार दिन में बच्चो, महिला व पुरूषो की तीन-तीन क्लास लगाकर भगवान महावीर स्वामी सहित 24 तीर्थंकरो के जीवन का बोध कराया था। चूंकि हाथरस में कभी किसी साधु का चतुर्मास नही हुआ था इस लिये समाज के लोग चाहते थे कि माताजी का इस बार हाथरस में ही चतुर्मास हो। माताजी के चतुर्मास के लिए अन्य जनपद व राज्यों से भी बडी संख्या में लोग लगातार हाथरस आ रहे है। आर्षमति माताजी के चतुर्मास की घोषणा श्रीफल अर्पण समारोह में होती चली आ रही है जिसके श्री जैन नवयुवक सभा द्वारा आज रविवार को इगलास रोड स्थित श्री राजमोहन फार्म हाउस में श्रीफल अर्पण समारोह व सम्मान समारोह का आयोजन किया था जिसमें हाथरस के अलावा मुरैना, ग्वालियर, अम्बा, आगरा, गाजियाबाद, दिल्ली सहित तमाम स्थानो से सैकडो की संख्या में महिला, पुरूष व बच्चे अपनी-अपनी गाडी व बसे लेकर हाथरस आएं थे और गाजे-बाजे के साथ आर्षमति माताजी के चरणो में श्रीफल भेंट किये थे। सम्मान समारोह में आर्षमति माताजी द्वारा लगायी गयी 10 की पाठशाला में विजयी हुए महिला, पुरूष व बच्चो को प्रथम, द्वितीय के अलावा अन्य सभी को सांत्वना पुरस्कार देकर सम्मानित किया था। समाज की छोटी-छोटी बालिकाओं ने मंगलाचरण प्रस्तुत किया था। जबकि महिलाओं द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ-साथ डांडिया नृत्य प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया था। आर्षमति माताजी के पाद प्रच्छालन की बोली के लिए बडी संख्या में लोगों ने बढ चढकर हिस्सा लिया था जबकि महिलाओं द्वारा आर्षमति माताजी को शास्त्र भेंट किया गया था। कार्यक्रम का शुभारंभ विजय जैन लोहिया व मयंक जैन लोहिया द्वारा माताजी के सानिध्य में ध्वजारोहण करके किया था। उत्तरांचल तीर्थ क्षेत्र कमेटी अध्यक्ष शैलेन्द्र जैन ने दीप प्रज्जवलित किया जबकि अलीगढ के गिरीश जैन द्वारा अपने भाई बबलू जैन व अखिलेश जैन के साथ 108 ज्ञान सागर जी महाराज के चित्र का अनावरण किया था। आर्षमति माताजी को श्रीफल भेंट करने के लिए विभिन्न जनपद व राज्यो से आएं लोगों द्वारा बडे-बडे श्रीफल के अलावा माताजी को आकर्षित करने के लिए बादाम, चावल आदि की भव्य थालों की रूप सच्चा कर भेंट की गयी थी। आर्षमति माताजी ने प्रवचन के उपरांत जब पुरानी ईदगाह आगरा में चतुर्मास करने की घोषणा की तो हाथरस जैन समाज की महिला, पुरूष व बच्चो की आॅखों से अश्रु धारा बह निकली थी। माताजी द्वारा सभी को समझाया और कहा कि आप भावना बहाते रहिएं निश्चित रूप से अगली बार चतुर्मास हाथरस को मिलेगा। श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन ने कहा कि हाथरस मंें किसी भी साधु-संत का अभी तक चतुर्मास नही हुआ था और न ही श्रीफल अर्पण करने के लिए इस तरह का कोई बडा आयोजन नही हुआ है। हाथरस के लोग इस बार आर्षमति माताजी द्वारा चतुर्मास किये जाने की आस लगाएं बैठे थे जिससे हाथरस में भी धर्म की ब्यार बह सके। कार्यक्रम का संचालन कोषाध्यक्ष कमलेश जैन लाल वालो ने किया था। इस मौके पर प्रमुख रूप से श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन, महामंत्री संजीव जैन भूरा, मंत्री सुधीर जैन, हलवाई खाना बड़ा मंदिर प्रबंधक राकेश जैन, नेमिनाथ दिगंबर जैन मंदिर अध्यक्ष संदीप जैन, अमित जैन, मोनू जैन, पंकज जैन, अमित जैन, अनूप जैन, पिंकी जैन लाल वाले, अनिल जैन गुड्डू, जिनेंद्र जैन, धीरज जैन रिंकू, पवन जैन डीएलए, पुलकित जैन डीएलए, धीरज जैन सभासद, संजीव जैन लुहाडिया, विशाल जैन, अतुल जैन वसुंधरा, मुकेश जैन, पुनीत जैन, आकाश जैन, मनीष जैन कृषि, निखिल जैन, राजेश जैन, नितिन जैन, नेमीचंद जैन, तनु जैन, बॉबी जैन, मुदित जैन, धन्य कुमार जैन सौगानी, विवेक जैन, श्वेतांक जैन, अरुण जैन लोहिया, अतुल जैन एडवोकेट, राजकुमार जैन प्लाईबुड, डिंपल जैन, अनिल जैन फोटो, कपिल जैन, संजय जैन, राहुल जैन बैटरी वाले, कैलाश चंद्र जैन सूत वाले, विनीत जैन, धर्मेन्द्र जैन, सहित सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष व बच्चे शामिल हुए थे।