Visitors have accessed this post 102 times.

सिकंदराराऊ : कृषि विज्ञान केन्द्र, हाथरस द्वारा ग्राम नगला काँच, विकास खण्ड – हसायन में जल शक्ति अभियान (कैच द रैन) कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
केंद्र के अध्यक्ष डॉ ए. के. सिंह ने कृषि मे पानी का समुचित प्रयोग तथा अनावश्यक पानी के बहाव को रोकने की बात कही, एसा करने से पानी का सही उपयोग और बर्बादी से बचाव होता है।
केंद्र के फसल सुरक्षा के क वैज्ञानिक डॉ श्योराज सिंह ने कृषक भाइयों को खेत में बरसात के समय जल बॉन्डिंग करके जल संरक्षण के तरीके बताये।
केंद्र के प्रसार वैज्ञानिक डॉ विनोद प्रकाश ने मोर क्रॉप पर ड्रॉप और टपक विधि से सिंचाई करने पर फसल को पानी भी मिलता है और पानी की बचत भी होती है।
कृषि अभियंत्रण के वैज्ञानिक डॉ कमलकांत ने कृषकों को बताया कि हमारे यहा ग्राउन्ड वाटर बहुत कम रह गया है तो पानी को बचाना है और जन जीवन को बचाना है।
महिला वैज्ञानिक गृह विज्ञान डॉ पुष्पा देवी ने महिलाओं और कृषकों को बताया कि घरेलू स्तर पर महिलाओं द्वारा पानी का प्रयोग और पानी बर्बादी को कैसे कम कर सकते हैं। उन तरीकों को व्यवहारिक रूप से समझाया।
केंद्र के मृदा वैज्ञानिक डॉ जगदीश मिश्रा ने मिट्टी को जितना पानी चाहिए, उतना ही देना है। फ्लड ईरीगेशन को रोकने की बात कही। श्री महेंद्र जाटव सहित गाँव के अनेक महिलाओं और किसानों ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया ।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें :-