Visitors have accessed this post 38 times.

सिकंदराराऊ : एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 200 रुपये की कटौती मतदाताओं को लुभाने और चुनाव वाले पांच राज्यों और उसके बाद के लोकसभा चुनाव में बढ़त हासिल करने के लिए भाजपा का यह एक राजनीतिक स्टंट है। वास्तविकता में भाजपा सरकार देश की गरीब जनता को लूटने में लगी है और पूंजीपतियों को लाभ पहुंचा रही है।
यह बातें उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य निखिलवर्ती पाठक ने पत्रकार वार्ता में कहीं। उन्होंने कहा कि जनता से लूट भाजपा के डीएनए में मौजूद है और उनकी रिवर्स रॉबिन हुड हरकतें अमीरों को और अमीर तथा गरीबों को और गरीब बना रही हैं। क्या यह बहुत आश्चर्य की बात नहीं है कि प्रधानमंत्री ने एलपीजी सिलेंडर सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में अत्यधिक वृद्धि के कारण अपने लोगों और उनकी पीड़ा की कई परवाह नहीं की। उन्हें अचानक उनके दर्द का एहसास हो गया और सिलेंडर की कीमत 200 रुपये कम कर दी। 2014 से एलपीजी सिलेंडर की कीमत लगातार बढ़ रही थी और पिछले 7 वर्ष में दोगुनी हो गई है। इतना ही नहीं 2020 से भाजपा सरकार ने सब्सिडी देना भी बंद कर दिया है।
श्री पाठक ने कहा कि पिछले दो दशकों में एलपीजी सिलेंडर की मूल्य वृद्धि के रुझान पर बारीकी से नजर डालने से हर मतदाता की आंखें खुल जाएंगी। कोई भी स्पष्ट रूप से समझ सकता है कि कीमतें केवल भाजपा सरकार के दौरान ही बेरहमी से बढ़ाई गई हैं। पिछले साढे़ 9 साल में मोदी सरकार ने रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ाकर जनता की जेब पर 8,33,640 करोड़ से ज्यादा की लूट की है। सिर्फ उज्वला बहनों से ही 2017 से अब तक 68702 करोड़ लूट लिए हैं।
इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष नवेद खान, अखलाक भारती , प्रदीप यादव, गौरव कश्यप, राशिद कुरैशी, पवन पंडित, आशीष शर्मा आदि मौजूद थे।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-