Visitors have accessed this post 124 times.

सिकंदराराऊ : महाराणा प्रताप राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सिकंदरा राऊ(हाथरस) में प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन के कुशल दिशा- निर्देशन और राष्ट्रीय सेवा योजना एवं रोवर्स रेंजर्स के प्रभारतत्व में क्षय रोग उन्मूलन पर संगोष्ठी और खादी महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन हुआ। आज के कार्यक्रम की शुरुआत प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने समस्त प्राध्यापकों एवं स्वास्थ्य टीम की गरिमामयी उपस्तिथि में माँ शारदे की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पार्पण कर की। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिकंदराराऊ से आगंतुक टीम के सदस्यों डॉ. जितेंद्र का स्वागत प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने, डॉ. मुकुल का स्वागत प्रो.रामबहादुर ने एवं डॉ.अवधेश का स्वागत डॉ.गोविंद अग्रवाल ने किया और प्राचार्या प्रो. शैफाली सुमन का स्वागत राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डॉ. हिमांशु रॉय ने किया। डॉ.जितेंद्र ने टी.बी.उन्मूलन कार्यक्रम को शासन-प्रशासन की प्रमुख प्राथमिकता बताते हुए भारत सरकार और उत्तर प्रदेश द्वारा चलाई जा रही प्रमुख स्वास्थ्य योजनाओं की विस्तृत चर्चा करते हुए छात्र-छात्राओं का ज्ञानवर्द्धन किया। इसी क्रम में डॉ.अवधेश ने टी.बी. रोग के मुख्य लक्षणों और उसके उपायों से छात्र-छात्राओं को अवगत कराते हुए टी.बी. रोग को 6 माह से 18 माह के उपचार के बाद पूर्णतः निदानात्मक बताया। स्वास्थ्य टीम ने क्षय रोग की जांच के लिए आकाश, सचिन, सलमान, शिवा आदि छात्र- छात्राओं के सेम्पल भी लिए। इसके अतिरिक्त महाविद्यालय में आज भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत खादी महोत्सव का आयोजन भी किया गया।
खादी महोत्सव कार्यक्रम में मुख्य वक्ता डॉ.हिमांशु रॉय ने खादी को एक वस्त्र के साथ-साथ राष्ट्रीय भावना कहा और इसे राजनैतिक प्रतीक के स्थान पर जन-सामान्य की पोशाक बनाने पर बल दिया। इसके अतिरिक्त महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने खादी महोत्सव पर अपने विचार रखे। उन्होंने खादी को राष्ट्रीय स्वाभिमान बताते हुए खादी अपनाओं, स्वदेशी भावना जगाओ का नारा दिया और छात्र-छात्राओं में अपना देश-अपना वस्त्र की भावना जागते हुए छात्र-छात्राओं को खादी पहनने के लिए प्रेरित कर किया। कार्यक्रम का संचालन विश्वनाथ प्रताप सिंह ने किया। आज के सुअवसर पर प्रो.रामबहादुर, प्रो.विनीता, प्रो.मंजू उपाध्याय, डॉ. हिमांशु रॉय, डॉ. जितेंद्र कुमार परमार, डॉ. अजब सिंह, डॉ. गोविंद अग्रवाल, अरवेश परमार, बृजमोहन एवं विशिष्ट जन उपस्थित थे।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें :