Visitors have accessed this post 191 times.

सिकंदराराऊ ; बुधवार को महाराणा प्रताप राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन के कुशल दिशा-निर्देशानुसार डॉ.भीमराव अंबेडकर का 67 वां परिनिर्वाण दिवस मनाया गया। आज के कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने अपने समस्त प्राध्यापकों की गरिमामयी उपस्थिति में बाबा साहेब के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन एवं माल्यार्पण कर किया। इस सुअवसर पर महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने व्यापक सहभगिता करते हुए बाबा साहब के समक्ष अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्राचार्या प्रो. शैफाली सुमन ने की। परिनिर्वाण दिवस के आयोजन के क्रम में महाविद्यालय में संगोष्ठी और क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में प्रो. राम बहादुर ने बाबा साहेब एवं उनकी शिक्षाओं को वर्तमान में समाज के सभी वर्ग के लिए मार्गदर्शक एवं प्रतीक मानते हुए उनका विस्तृतिकरण करने पर बल दिया।
डॉ.अजब सिंह ने बाबा साहेब के मूल सिद्धांतों की तर्कपूर्ण विवेचना की। वहीं प्रो.विनीता ने उनके राजनीतिक मूल्यों को छात्र-छात्राओं के समक्ष रखा।
संगोष्ठी में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं- फरमान, नंद किशोर, मधु, प्रियंका, आकाश पुंढीर आदि ने भी रुचितापूर्ण सहभागिता करते हुए अपने विचार रखे। जहाँ बाबा साहेब के जीवन-वृत्त का वर्णन फरमान एवं मधु ने किया। वहीं उनके व्यक्तिव और मूल्यों का वर्णन छात्र नंदकिशोर ने कविता पाठ के माध्यम से किया।
महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन ने बाबा साहेब के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर उनके व्यक्तित्व और मूल्यों को संपूर्ण विश्व के लिए प्रेरणादायक और मार्गदर्शक माना और सभी से उनके सिद्धान्तों एवं मूल्यों पर चलने और पुनर्संकल्पित होने का आह्वान किया। जिससे संपूर्ण विश्व में सामाजिक सद्भावना-समरसता एवं न्याय की प्रतिस्थापना हो सके और समाज का प्रत्येक वर्ग सशक्तिकरण के पथ पर अग्रसर हो सकें। क्विज प्रतियोगिता में प्रथम स्थान सुरजीत को, द्वितीय स्थान आकाश पुंढीर को और तृतीय स्थान फरमान को प्राप्त हुआ। यह सभी बी.ए. तृतीय वर्ष के छात्र हैं।
कार्यक्रम का संचालन विश्वनाथ प्रताप सिंह ने किया। इस सुअवसर पर अरवेश कुमार, बृजमोहन एवं अन्य विशिष्ट जन उपस्थित थे।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-