Visitors have accessed this post 35 times.

सिकंदराराऊ। सिकंदराराऊ।
भाईचारा सेवा समिति के तत्वावधान में बसंत पंचमी की पूर्व संध्या पर काव्य गोष्ठी का आयोजन ग्राम हुसैनपुर में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ अवधेश कुमार ने की तथा संचालन शायर आतिश सोलंकी ने किया। मुख्य अतिथि भाईचारा सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश यादव संघर्षी व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हरपाल सिंह यादव , समाजसेवी विपिन शर्मा, आतिश सोलंकी एवं सुधीर प्रताप रानू ने मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
कार्यक्रम का शुभारम्भ शायर आतिश सोलंकी की सरस्वती वंदना से हुआ। इसके बाद कार्यक्रम में उपस्थित सभी कवियों ने बसंत ऋतु पर अपनी अपनी कविताएँ सुनायी।
कासगंज से पधारे वरिष्ठ कवि विपिन शर्मा ने पढ़ा
या राम घर आ पहुंचे फिर सजी अयोध्या प्यारी है…..
शिकोहाबाद से पधारी कवयित्री अपराजिता सिंह श्रेया ने पढ़ा
देश की रक्षा की खातिर वीर बलि वेदी चढ़े जो
उनकी कुर्बानी को हरगिज तुम भुला सकते नहीं
कासगंज से पधारे शायर आतिश सोलंकी ने पढ़ा
मां तो मां है मां की शान में कहना क्या
जिस घर में मां न रहती हो उस घर में रहना क्या
कवि महेश यादव संघर्षी ने पढ़ा-
जिंदगी में सदा मुस्कराते रहो।
दीप आशाओं के नित जलाते रहो।
सोरों से पधारे शायर शिवम् अश्क ने पढ़ा
इश्क की जलती हुई किताब हूं मैं
कोई पढ़ ना सकेगा वो जबाव हूं मैं
इस अवसर पर बनी सिंह बघेल एडवोकेट, रहीस कुरैशी, सुधीर शर्मा, सुधीर प्रताप रानू, रिंकू यादव, हरेन्द्र यादव प्रधान, साहित्य शर्मा कुक्कू, रैना यादव, सचिन कुमार, श्रीनिवास यादव मुनीम जी, आनंद वर्मा, अखिलेश शास्त्री, विजय कुमार, कुलदीप कुमार, विट्टू कुमार, श्री चन्द्र, ललित कुमार सभासद, देवा बघेल, हुकुम सिंह, अखिलेश कुमार उपस्थित रहे|

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-