Visitors have accessed this post 101 times.

सिकंदराराऊ : बुधवार को महाराणा प्रताप राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन के कुशल दिशानिर्देशन और राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डॉ.हिमांशु रॉय के प्रभारत्व में आयोजित होने वाले द्विदिवसीय शिविर का समापन हुआ। शिविर के समापन के सुअवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने देश के नागरिकों में समाज के प्रति समर्पण, त्याग व अपनत्व का भाव जागृत करने हेतु महाविद्यालय के प्रांगण एवं उसके समीपवर्ती क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाया, जिसका मुख्य उद्देश्य देश और उसके प्रत्येक क्षेत्र, जैसे-महाविद्यालय, सड़क, गाँव के मार्गों आदि को स्वच्छ रखकर स्वच्छ्ता के प्रति नागरिकों में नागरिक बोध भावना जाग्रत करते हुए उनके स्वच्छता के प्रति दृष्टिकोण में सकारात्मक परिवर्तन लाना था। आज राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने महाविद्यालय के अग्रवर्ती सड़क मार्ग से गुजरने वाले नागरिकों को कूड़ा प्रबंधन, प्लास्टिक के कम उपयोग करने, सप्ताह में एक घंटा स्वच्छ्ता को देने का संदेश दिया। इसके अतिरिक्त आज महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों एवं छात्र-छात्राओं में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता का संवर्धन करने हेतु सड़क सुरक्षा: जीवन रक्षा विषय पर एक संगोष्ठी का भी आयोजन हुआ। जिसमें महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने व्यापक स्तर पर सहभागिता की। छात्र-छात्राओं में गगन, आकाश पुंडीर, यशवीर, नंदनी, विशाल, आयुष आदि ने भारत में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने एवं सड़क सुरक्षा की सुनिश्चितता निर्धारित करने हेतु अपने-अपने विचार व्यक्त किए। संगोष्ठी में प्रो.मंजू उपाध्याय ने अपने विचार व्यक्त करते हुए स्वयंसेवकों एवं छात्र-छात्राओं को वाहन जोश के स्थान होश में चलाने, माता-पिता को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने एवं दुर्घटना के बाद संयमित व्यवहार करने का संदेश दिया।
डॉ.अजब सिंह ने स्वयंसेवकों को सड़क दुर्घटना से जीवन की रक्षा करने और रूल्स ऑफ रोड का पालन करने का संकल्प दिलाया।
कार्यक्रम के अध्यक्ष प्रो. राम बहादुर ने भी ‘सड़क सुरक्षा: जीवन रक्षा’ विषय पर अपने बहुमूल्य विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं से प्रत्येक व्यक्ति के जीवन रक्षा को देश, समाज और प्रत्येक व्यक्ति का परम धेय्य बताया और लोगों को यातायात के नियमों का पालन करने एवं किसी दुर्घटना के समय करुणा, कर्त्तव्य भावना, सहानुभूति आदि के आधार पर सहयोग करने हेतु प्रेरित किया।
अंत में राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डॉ.हिमांशु राय ने कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.शैफाली सुमन, समस्त प्राध्यापकों एवं छात्र-छात्राओं का आभार एवं धन्यवाद ज्ञापन किया।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-