Visitors have accessed this post 59 times.

सोमवार की रात्रि कोतवाली क्षेत्र के गांव पोरा में हुए दंपति हत्याकांड के आरोपियों को छोड़ने की अफवाह के चलते मंगलवार की शाम को बड़ी संख्या में ग्रामीण कोतवाली पर आकर जमा हो गए और हंगामा करने लगे। सैंकडों महिला पुरूषों ने मंगलवार की सांय लगभग साढे चार बजे कोतवाली का घेराव कर लिया । उग्र भीड को विश्वास ही नहीं हो रहा था कि आरोपियों का चालान होगा । भीड़ ने कई बार कोतवाली के कार्यालय में घुसने का भी प्रयास किया । जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया। लोग कह रहे थे कि आरोपियों को बाहर निकालो हम उनमें आग लगायेंगे। उसी दौरान भीड ने कई बार जीटी रोड को जाम लगाने का प्रयास किया । लेकिन पुलिस ने उनके मंसूबे सफल नहीं होने दिए। हालात उस समय और ज्यादा विकट हो गए । जब हाथरस से पोस्टमार्टम के बाद शवों को एम्बुलेंस गांव लेकर जा रही थी। भीड ने एम्बुलेंस को रोक कर उसमें से दंपती के शव उतार लिए तथा उन्हें जीटी रोड पर रख कर जाम लगा दिया। पुलिस के हाथ पांव फूल गये। पुलिस ने तत्काल भीड को बलपूर्वक हटा कर शवों को दोबारा एम्बुलेंस में रखवा कर उसे गांव की तरफ रवाना कर दिया। हालात बिगडते देख पुलिस को बल का प्रयोग करना पड़ा । जिससे भीड में भगदड मच गई । महिला पुरूषों ने इधर उधर दौडते हुए अपने आपको बचाया। इस दौरान पुलिस ने हंगामा कर रहे आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को पकड लिया।इस दौरान पुलिसकर्मियों के चुटैल होने की भी सूचना है।
कोतवाल का कहना है कि किसी के भडकाने पर भीड ने कोतवाली पर हंगामा किया। पुलिस के अनुसार स्थितिनियंत्रण में हैं।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-