Visitors have accessed this post 44 times.

सिकंदराराऊ। ग्राम अगसौली में चल रही श्री मद भागवत कथा में आचार्य श्री आनंद कृष्ण पाराशर जी द्वारा आज बालक ध्रुव की कथा का बहुत ही मार्मिक वर्णन किया गया।

उन्होंने कहा कि मनुष्य शरीर नाशवान है । इसको ईश्वर की भक्ति में लगाने से जन्म जन्म के जीवन मरण से मुक्ति मिल जाती है। क्योंकि कलियुग ही एक ऐसा युग है जिसमें पल भर के सत्संग मात्र से मोक्ष प्राप्त हो जाता है। इसलिए सांसारिक गृहस्थ जीवन से समय निकाल कर ईश्वर से प्रेम करोगे तो फिर कभी भी सांसारिक दुःख तुमको छू भी नहीं पाएगा।
महाराज श्री ने बताया कि जब मनुष्य ईश्वर से विरक्त हो जाता है, फिर सब उसको छोड़ देते हैं। इसलिए कलियुग में भागवत कथा श्रवण करने से ईश्वर प्राप्ति संभव है।
इस अवसर पर सुरेश चन्द्र शर्मा, छोटू पण्डित, श्याम जी, जयपाल सिह, विजय कुमार ,अखिलेश शास्त्री, विकास कुमार, हरिओम, बीरेश कुमार, सोनू, मोनू आदि मौजूद थे।