Visitors have accessed this post 248 times.

सिकंदराराऊ  : फलों का राजा की सुगंध शहर के चौराहों एवं गलियों में महकने लगी है, लेकिन जल्दी पकाने की कारोबारी प्रतिस्पद्र्धा में यह मीठे जहर में बदलता जा रहा है। कार्बाइड से इसे पकाया जा रहा है जो स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव डालता है। खाद्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं।
बाजार में इन दिनों स्थानीय आम की आमद नहीं है। दिसावर से आने वाला आम बाजार में बिक रहा है। इसे सफेदा के नाम से जाना जाता है। । आम कारोबारी आम को पकाने के लिए कार्बाइड का उपयोग करते हैं। जिससे आम कुछ ही घंटों में पक कर तैयार हो जाता है। इससे कारोबारियों को अच्छी कीमत मिलती है, लेकिन कार्बाइड सेहत के लिए नुकसानदेह बना
सेहत के लिए नुकसानदेह :
कार्बाइड में कैंसरकारी तत्व होते हैं। यह नाड़ी तंत्र को भी प्रभावित करता है। चक्कर आने, सिर दर्द, दिमागी विकार, नींद आना, मिर्गी आदि की शिकायत हो सकती है।
कार्बाइड का इस्तेमाल खाद सुरक्षा व मानक अधिनियम के तहत वर्जित है। भंडारण विक्रय वितरण करने पर सजा का प्रावधान है।

INPUT : Ravindra yadav

यह भी देखे : वृंदावन के निधिवन का रहस्य जिसे सुन आप हैरान रह जाएंगे

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here