Visitors have accessed this post 119 times.

राजधानी लखनऊ में इंवेस्टर समिट की तैयारियां ऐसी की गई हैं, जैसे लग रहा है कि सहालग चल रही हो. लखनऊ में बंद पड़े फव्वारे भी अब मधुर मुस्कान छोड़ रहे हैं. इंतजार देश-विदेश के अतिथियों का है. राजधानी के इतिहास का यह पहला मौका होगा जब देश के उद्योग जगत की नामी हस्तियां एक साथ जुटेंगी.

रिपोर्ट के मुताबिक इंवेस्टर समित में रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबामी, आदित्य विक्रम बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला, अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी के साथ महिंद्रा ग्रुप के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा, टाटा संस के चेयरमैन एन.चंद्रशेखरन शामिल होंगे.

इनके अलावा टोरेंट समूह के सुधीर मेहता, कैडिला हल्थकेयर के अध्यक्ष पंकज पटेल, अरविंद मिल्स के एक्जेक्यूटिव डायरेक्टर कुलीन लालभाई, जेएसडब्ल्यू ग्रूप के चेयरमैन सज्जन जिंदल, एस्सेल समूह के अध्यक्ष सुभाष चंद्रा, जीएमआर समूह के अध्यक्ष जीएमआरराव सहित जाने मानी हस्तियां शिरकत करेंगी.

मुस्कराइए आप लखनऊ में हैं के स्लोगन को राजधानी का गोमती नगर पूरी तरह से सही ठहरा रहा है. सड़कों से चौराहे तक सजधज कर मुस्करा रहे हैं. सड़क किनारे होर्डिग्स इन्वेस्टर्स समिट का संदेश दे रहे हैं तो चौराहों पर लगे महापुरुषों की मूर्तियां भी रंग रोगन के साथ चमक रही हैं. बंद पड़े फाउंटेन भी अपनी चमक बिखेर रहे हैं. पूरा क्षेत्र अतिक्रमण मुक्त किया जा चुका है. मुख्यमंत्री इस तैयारी से काफी खुश हैं.

इस समिट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद चार सत्रों में मौजूद रहेंगे. इनमें से दो सत्रों की अध्यक्षता भी खुद करेंगे. 21 फरवरी को सीएम दोपहर 2 से चार बजे तक होने वाले सीईओ सेशन में सम्मिट में आए देश विदेश के 200 शीर्ष उद्योगपतियों के साथ वन-टू-वन इंटरैक्शन करेंगे. 22 फरवरी को सीएम दूसरे राज्यों में कारोबार करने वाले यूपी के मूल उद्योगपतियों को घर वापसी पर केंद्रित सत्र की अध्यक्षता करेंगे.

इसके अलावा 21 फरवरी तो इंडस्ट्रियल एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी और 22 फरवरी को डिफेंस मैन्यफैक्चरिंग पर आयोजित होने वाले सत्रों में यूपी का प्रतिनिधित्व करेंगे. उत्साह से भरे मुख्यमंत्री कहते हैं कि सम्मिट से प्रदेश में खुशहाली आएगी.