Visitors have accessed this post 90 times.

गोवर्धन।  संसद में मथुरा की सांसद ने गोवर्धन पर्वत के संरक्षण और विकास का मुद्दा उठाया। गिरिराजजी का सात कोसीय परिक्रमा मार्ग दो राज्यों उत्तर प्रदेश-राजस्थान की सीमा के अंतर्गत आता है। इसलिए एकीकृत विकास के लिए केंद्र सरकार से श्श्री गोवर्धन जी विकास न्यासश् बनाकर विकास कराने का आग्रह किया। इससे गोवर्धनवासियों में खुशी की लहर दौड़ गई। गोवर्धन प्रेस क्लब के अध्यक्ष परीक्षित कौशिक ने उनके आवास पर पहुंचकर गिरिराज प्रभु के छप्पन भोग का प्रसाद भेंटकर पटुका पहनाकर सांसद हेमा मालिनी का स्वागत किया। श्री गिरिराज पर्वत जी की सात कोस यानी 21 किलोमीटर की परिक्रमा में विश्व भर से लगभग प्रतिवर्ष 5 से 10 करोड़ भक्त आते हैं। कुछ भक्त दण्डवती परिक्रमा करके अपने को धन्य समझते हैं । मुड़िया पूर्णिमा, कार्तिक मास, एकादशी से पूर्णिमा तक, सावन, भादो, फागुन मास में अत्यंत भीड़ रहती है। विश्व भर में ऐसा कोई तीर्थ नहीं है, जहां इतनी भारी मात्रा में भक्त व तीर्थ यात्री आते हों।

 

INPUT – आशु कौशिक

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here