Visitors have accessed this post 92 times.

गाजियाबाद के लोनी क्षेत्र में मां-बेटी के रिश्ते को कलंकित करने वाली घटना सामने आई है। 10 साल की एक मासूम ने आरोप लगाया है कि उसकी सौतेली मां ने उसे 5 बार अलग-अलग लोगों को बेचा। खरीदने वालों ने भीख मंगवाने के साथ ही उसका उत्पीड़न भी किया। सीडब्ल्यूसी ने मामले का पता चलते ही लोनी थाने को लेटर लिखकर मामले में मां और पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को कहा है। सीडब्ल्यूसी की मेंबर शालिनी सिंह ने बताया कि बच्ची ने अपने बयानों में बताया कि उसकी मां ने उसे कई बार बेचा, जबकि पिता घर में सिगरेट से जलाता था। उन्होंने कहा कि मामला ट्रैफिकिंग का है। इस संबंध में अन्य विभागों को भी लेटर लिखा जाएगा।

पिता को देख बच्ची रोई बच्ची
जानकारी के अनुसार, लोनी की रहने वाली 10 साल की बच्ची को 18 दिसंबर को जयपुर सीडब्ल्यूसी के माध्यम से गाजियाबाद लाया गया था। इसके बाद उसे 3 महीने में बाल गृह में रखकर परिवार को तलाश किया गया। जब बच्ची का पिता उसे लेने के लिए पहुंचा तो बच्ची अपने पिता को देखकर रोने लगी। पूछने पर उसने सिर्फ गंदे पापा कहा। सीडब्ल्यूसी मेंबर के अनुसार जब बच्ची को अकेले ले जाकर उससे पूछताछ की गई तो उसने पूरी कहानी सुनाई। उसने बताया कि कैसे उसकी मां की मौत के बाद पिता उसे परेशान करता था। सौतेली मां ने उसके साथ किस प्रकार का व्यवहार किया।

बरामद होने के बाद दोबारा बेची गई बच्ची
बच्ची ने बताया कि सौतेली मां ने उसे 5 बार बेचा। वह उसे अपने परिचित लोगों के हाथों बेचती थी। इस दौरान अन्य लोगों से बच्ची के अचानक गायब होने की सूचना पुलिस तक पहुंचने पर मां उसे वापस घर ले आती थी। बच्ची ने बताया कि करीब 1 साल पहले उसे राजस्थान में बेचा गया था जहां से उसे परिवार को सौंप दिया गया था। लौटने के बाद उसके पिता ने उसके शरीर को सिगरेट और बीड़ी से जलाया। करीब 5 महीने पहले मां ने उसे फिर से उसी स्थान पर ले जाकर दूसरे व्यक्ति के हाथों बेच दिया।

60 साल के पिता ने 25 साल की युवती से की शादी
जानकारी के अनुसार, पीड़ित बच्ची का पिता लोनी में रहता है और उसकी उम्र 60 साल है। चार साल पहले बेटी के जन्म के बाद उसकी पत्नी की मौत हो गई थी। इसके बाद उसने 21 साल की एक युवती से शादी की थी। शादी के बाद से ही उसने बच्ची को परेशान करना शुरू कर दिया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here