Visitors have accessed this post 291 times.

कासगंज : कहा जाता है किसी भी देश की उन्नति उस देश के ग्रामीण विकास पर निर्भर करती है , इसी लिए तो देश में बनने वाली किसी भी सरकार का घोषणा पत्र ग्रामीण विकास के वायदों से भरा होता है और सरकारें प्रयास भी करती हैं विकास कराने का एवं ग्रामीणों के जीवन का स्तर सुधारने का लेकिन कभी कभी निचले स्तर के कर्मचारियों की छोटी सी लापरवाहियों से सरकारों यह सपना अधूरा रह जाता है और इसका दंश झेलते हैं ग्रामीण लोग , और इस ही का जीता-जागता उदाहरण है कासगंज के गंजडुंडवारा ब्लॉक का देवकली गांव ,जहां ग्रामीण अपने ही गांव में कितने गये विकास कार्यों पर सवाल उठा रहें हैं ,

ग्रामीणों का आरोप है कि गांव कागजों में ओडीएफ हो चुका है लेकिन आज भी बहुत से लोग आपको नित्यक्रिया के लिए खेतों में जाते दिख जायेंगे ।
जब ग्रामीणों से हमने इसके बारे में जानना चाहा तो ग्रामीणों ने बताया कि जो लोग खेतों में नित्यक्रिया के लिए जाते हैं उन लोगों के या तो शौचालय बने नहीं हैं या फिर आधे अधूरे पड़े हुए हैं ,


वहीं गांव की कुछ सड़कें भी अपनी दुर्दशा खुद बयां कर रही हैं , ग्रामीणों ने बताया कि ऐसा नहीं है कि इसकी शिकायत कहीं की नहीं गयी है , लेकिन शिकायत के बाद भी अधिकारियों के ढुलमुल रवैए के चलते आज भी ग्रामीण नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं , अब देखना होगा कि जिला प्रशासन अब कब कुम्भकरणी नींद से जागेगा और इस गांव को अपने हिस्से का विकास मिलेगा ।

रिपोर्ट : अजमेरी वारसी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here