Visitors have accessed this post 204 times.

सिकनंदराराऊ :  शाम 9 मई हिन्दुवा कुल भूषण त्याग वलिदान व शौर्य के प्रतीक वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी की 480 वीं जयंती कोरोना वायरस जैसी महामारी से देश में हुए लॉक डाउन का पालन कर सोसल डिस्टेंस के साथ किसान नेता निशान्त चौहान ने अपने पैतृक गांव स्थित अपने आवास पर अपने बेटे पार्थ चौहान के साथ पूजा अर्चना व मिस्ठान बितरण कर 101मिट्टी के दीपक जलाकर शौर्य दिवस के रूप में मनाई।किसान नेता निशान्त चौहान ने कहा कि महाराणा प्रताप ने अपना राजपाठ त्याग कर जंगलो में निवास कर हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए मुग़लो से युद्ध लड़ा। किन्तु अकबर की स्वाधीनता स्वीकार नही की।आज युवा पीढ़ी को महाराणा प्रताप के जीवन परिचय कर उनके चरित्र चित्रण का स्मरण करना चाहिए और देश में हो रहे अन्याय के खिलाफ लड़ना चाहिए।महाराणा प्रताप क्षत्रिय ही नही अपितु समस्त हिन्दू समाज का गौरव है। श्री चौहान ने महाराणा प्रताप जयंती पर प्रदेश सरकार से अवकाश घोषित करने की मांग की। दीप प्रज्वलित करने वालों में पार्थ चौहान,यामिनी चौहान,उर्मिला चौहान,रवेंद्र पाल सिंह,प्रशांत चौहान आदि थे |

INPUT – Ravindra yadav