Visitors have accessed this post 206 times.

हाथरस जनपद के प्रख्यात चित्रकार भेद प्रकाश सिंह हाथरसी द्वारा कोरोना वैश्विक महामारी के समय में “कृष्ण कोरो ना “नामक पेंटिंग बनाकर देशवासियों का आत्मबल बढ़ाने की कोशिश की गई । उस के उपलक्ष्य में मां शीला देवी जनसेवा चैरिटेबल ट्रस्ट – मथुरा द्वारा कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित किया गया

कोरोना वायरस महामारी के दौर में एकतरफ उससे लड़ रहे डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की फौज है तो ऐसे भी कोरोना योद्धाओं की कमी नहीं है, जो अपने तरीके से इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में समाज की सकारात्मक प्रोत्साहन दे रहे हैं। ऐसे ही एक कोरोना योद्धा है चित्रकार हाथरसी।
चित्रकार हाथरसी समय-समय पर लोगों को अपनी पेंटिंग्स के द्वारा जागरूक करते रहे हैं चित्रकार हाथरसी ने कहा कि मेरा पेंटिंग एकमात्र उद्देश्य समाज का आत्मबल बढ़ाना है क्योंकि किसी भी बीमारी से निजात पाने के लिए आत्मबल महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है शोध से पता चला है कि ईश्वर में आस्था रखने वाले मनुष्यों का आत्मबल उच्च स्तर का होता है हमारा ब्रज क्षेत्र श्री कृष्ण के भक्ति रस में सराबोर है अतः मैंने श्रीकृष्ण को कोरोना पर विजय पाते हुए दिखाया….
चित्रकार हाथरसी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से लड़ने वाले हमारे योद्धाओं में सबसे अगली पंक्ति में कोई खड़ा है तो वे हैं हमारे डॉक्टर पुलिस एवं सफाई कर्मी। वह भी तब, जब उनका हर दिन कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी से सामना हो रहा हो। अपनी व अपने परिवार के जान की परवाह किए बगैर ये हर दिन 10 से 12 घंटे उनके लिए काम कर रहे हैं, जो कि इस संक्रमण का शिकार हो गए।
मां शीला देवी जनसेवा चैरिटेबल ट्रस्ट मथुरा के संस्थापक रवि बाबा नौहवार द्वारा कोरोना योद्धा सम्मान पत्र प्राप्त करते हुए चित्रकार हाथरसी कहा कि मैं अपना यह सम्मान सफेद एवं खाकी वर्दी को समर्पित करता हूं |

 

INPUT – Akhilesh kumar