Visitors have accessed this post 28 times.

ग्रेनो वेस्ट स्थित रिक्षपाल गढ़ी गांव में लगी डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा को शुक्रवार सुबह किसी ने खंडित कर दिया, जबकि इसकी सुरक्षा के लिए दो पुलिसकर्मी भी तैनात थे। इस घटना के बाद गांव में फैले तनाव के बीच आनन-फानन में प्रशासन ने अलीगढ़ से पीतल की नई प्रतिमा लाकर स्थापित किया। आज यहां ग्रामीण डॉ. आंबेडकर जयंती को धूमधाम से मनाएंगे। उधर, अज्ञात आरोपी पर महापुरुष की प्रतिमा खंडित करने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।ग्रेनो वेस्ट के बिसरख कोतवाली एरिया में रिक्षपाल गढ़ी गांव में अंदर ही डॉ. आंबेडकर की प्रतिमा लगी हुई है। आंबेडकर जयंती के मद्देनजर बिसरख कोतवाली के एसएचओ ने 9 अप्रैल को ग्रामीणों के साथ मीटिंग की थी। इसके बाद प्रतिमा की सुरक्षा के लिए दो पुलिसकर्मी तैनात कर दिए गए थे। गुरुवार को भी पुलिसकर्मी ड्यूटी पर आए थे और शुक्रवार तड़के करीब 3 बजे थाने चले गए। इसके बाद ही किसी शरारती तत्व ने प्रतिमा को खंडित कर दिया।

शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे खंडित प्रतिमा पर ग्रामीणों की नजर गई। सूचना मिलने पर एसपी सुनिति, एसडीएम अमित कुमार, सीओ अनित कुमार और तहसीलदार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। इसके अलावा बीएसपी के मंडल जोन इंचार्ज श्रीकृष्ण इंदोरिया, रविंदर गुर्जर, जिला उपाध्यक्ष उपदेश नागर, जिला प्रभारी अनस जावेद, नोएडा विधानसभा अध्यक्ष ब्रह्म प्रकाश व संतराम भारती आदि भी पहुंचे। एसएसपी डॉ. अजय पाल शर्मा ने फोन के जरिए ग्रामीणों को नई प्रतिमा लगवाने का आश्वासन दिया।

अलीगढ़ से मंगाई गई पीतल की प्रतिमा

डीएम और एसएसपी के निर्देश पर अलीगढ़ से पीतल की नई प्रतिमा लाने के लिए जेवर कोतवाली के एसएचओ को भेजा गया। पुलिस की मौजूदगी में शुक्रवार को पुरानी प्रतिमा को हटा कर नई प्रतिमा को उसी स्थान पर स्थापित कर दिया गया। प्रशासन ने आंबेडकर स्थल का सौंदर्यीकरण करने का आश्वासन दिया

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here