Visitors have accessed this post 78 times.

(INPUT: Vikas Johari) वर्षों से एचआईवी ‘ह्युमन इम्यूनो डेफिसियंशी वायरस‘ के बारे में पूरे विश्व में बहुत सी भ्रातियां फैली हुई हैं। कभी-कभी इन भ्रांतियों की ही वजह से ऐसी बीमारियों से लड़ना और भी मुश्किल हो जाता है। एड्स से जुड़ें तथ्यों को भी जानना उतना ही ज़रूरी है जितना कि इस बीमारी को समझना।

संशय: एचआईवी के मरीज़ के साथ रहने पर एच आई वी हो जाता है।
सत्य: अब तक के हुए सर्वेक्षणों से पता चलता है कि एच आई वी के मरीज़ को छूने से, उसके आंसू ,पसीने या सैलाइवा से एचआईवी नहीं फैलता। इसके अलावा एक ही वातावरण में सांस लेने से। एक ही टॉयलेट का इस्तेमाल, जूठा पानी पीने से, गले लगाने से, किस करने से, हाथ मिलाने से, एक ही बर्तन में खाना खाने से भी नहीं फैलता है।

संशय: एचआईवी से डरने की कोई ज़रूरत नहीं
सत्य: एण्टी रेट्रोवायरल ड्रग्स से बहुत से एचआईवी के मरीजों की स्थिति में सुधार आया है लेकिन यह ड्रग्स बहुत महंगी हैं और इनका साइड एफेक्ट भी खतरनाक है। अभी तक इस बीमारी का कोई भी उपचार पूरे विश्व में नहीं खोजा जा सका है।

संशय: एचआईवी मच्छरों के काटने से होता है
सत्य: एचआईवीरक्त के द्वारा फैलने वाला संक्रमण है इसलिए लोगों को लगता है कि यह मच्छरों के काटने से हो जाता है। ऐसा अभी तक सिद्ध नहीं हो पाया है और अगर ऐसा हो भी जाये तो एच आई वी मच्छरों में बहुत ही कम समय तक रह सकता है।

संशय: एचआईवी पाज़िटिव होने का मतलब है कि आपका जीवन समाप्त हो गया
सत्य: इस बीमारी के शुरूआती दौर में इससे लड़ना नामुमकिन था लेकिन अब एण्टी रेट्रोवायरल ड्रग्स की मदद से एच आई वी के साथ जीवन व्यतीत किया जा सकता है।

संशय: अगर पति और पत्नी दोनों ही एचआईवी पाज़िटिव हैं तो उन्हें सेफ सेक्स की ज़रूरत नहीं होती।
सत्य: एचआईवी पाज़िटिव्स के लिए सेफ सेक्स बहुत ही ज़रूरी होता है इसलिस कांडोम का इस्तेमाल करें।

संशय: ओरल सेक्स से एच आई वी नहीं फैल सकता।
सत्य: यह सच है कि ओरल सेक्स, सेक्स के दूसरे तरीकों से ज़्यादा सुरक्षित है लेकिन एच आई वी के साथ ओरल सेक्स करने पर एच आई वी के फैलने का खतरा रहता है इसलिए ओरल सेक्स के दौरान भी लेटेक्स बैरियर का इस्तेमाल करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here