Visitors have accessed this post 121 times.

सुशांत सिंह केस में सीबीआई जाच मामले में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं। कुछ दिनों पहले ये सामने आया था कि सुशांत की मौत के एक दिन बाद रिया चक्रवर्ती मुर्दाघर गई थीं ।उन्हे देखने के लिये और रिया चक्रवर्ती ने सुशांत के शव को देखकर सॉरी बाबू कहा था। अब सोशल मीडिया पर सॉरी बाबू ट्रेंड हो रहा है। यूजर्स कमेंट कर रहे है। और अपने-अपने विचार रख रहे हैं। साथ यह भी बोल रहे है। कि आखिर रिया चक्रवर्ती ने ऐसा क्यों कहा होगा।ऐसा बताया जा रहा है।यूजर्स सुशांत की पड़ोसी को भी निशाने पर ले रहे हैं, उन्होंने अपने बयान में कहा था- 13 जून की रात को सुशांत के घर की लाइट्स जल्दी ही बंद हो गईं थीं। इस बयान पर एक यूजर ने यह भी कहा- बिना किसी के पूछे हमारा ध्यान भटकाने के लिए ये सब कहानियां बनाई जा रही हैं। सॉरी बाबू वाली कहानी भी स्क्रिप्टेड है। इसीलिए यह सब कहानिया बना रहे है। एक यूजर ने बताया की सिर्फ सॉरी बाबू कहने के लिए उसकी छाती को छुने के लिए रिया मुर्दाघर गई थीं ।इन दोनों ने मिलकर सुशांत को मारा है और अब यह सब दिखाने के ड्रामा किया जा रहा है बता दें सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त और फिल्म मेकर सुरजीत सिंह राठौर ने 15 जून को कूपर अस्पताल में जो कुछ भी हुआ उसके बारे में बताया था। एक मीडिया हाउस से बात करते हुए सुरजीत ने बताया, ‘मैं करीब 11 बजे हॉस्पिटल पहुंचा था। करीब 11:30 बजे मेरे दोस्त सूरज सिंह वहां आए और मुझसे कहने लगे कि सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती उनके अंतिम दर्शन करना चाहती हैं। पुलिसवालों से बात कर उसे सुशांत का चेहरा दिखा दो। मैंने पुलिस वालों से बात की और रिया को लेकर मुर्दाघर के अंदर पहुंच गया। जैसे ही मैंने सुशांत के चेहरे से चादर हटाई, रिया ने उनके सीने पर हाथ रखा और कहा- ‘सॉरी बाबू’। हम 5 से 7 मिनट तक अंदर रुके रहे।’सुरजीत ने यह भी बताया था कि रिया का भाई शौविक चक्रवर्ती और उनकी मां भी सुशांत का शव देखना चाहते थे, लेकिन मुंबई पुलिस ने उन्हें देखने नहीं दिया। सुरजीत का दावा है कि उसने पुलिस अधिकारी से बात की और इसके बाद ही वह और रिया, सुशांत का शव देखने अंदर गए थे।

इनपुट -: कोमल अग्रवाल

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here