Visitors have accessed this post 63 times.

मुरादाबाद इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के छात्रों ने एक प्रोटेक्शन जैकेट तैयार की है। इसमें इलेक्ट्रिकल सर्किट का स्तेमाल कर जीपीएस और जीएसएम सिस्टम लगाया गया है। इस सिस्टम के साथ कैमरा भी लगा हुआ है। जैकेट पहनने के बाद महिला को किसी ने छूने की कोशिश की तो बटन दबाते ही शख्स को करंट का झटका लगेगा। साथ ही पुलिस भी मौके पर पहुंच जाएगी। इससे जहां महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराध को रोकने में मदद मिलेगी, वहीं पुलिस के लिए चुनौती बने ऐसे मामलों में दोषियों को पकड़ने में आसानी होगी।

जैकेट ऐसे करेगी काम :

दिखने में यह सामान्य जैकेट की तरह ही होगी। आमतौर पर पहनने वाली जैकेट की तरह ही इसे भी पहनना होगा। जैकेट में ही एक सर्किट प्लेट अंदर की साइड ऐसे लगी होगी जिससे पहनने पर महिला को असह महसूस न हो। साथ ही बाएं हाथ की तरफ एक बटन लगाया गया है। किसी भी विषम परिस्थिति में जैसे ही महिला इस बटन को दबाएगी, महिला को छूने वाले व्यक्ति को 24 वोल्ट के करंट का झटका लगेगा। साथ ही जीएसएम के जरिए उसमें फीड किए गए नंबरों पर खतरे का मैसेज जाएगा और जीपीएस से महिला की लोकेशन भी वहां तक पहुंच जाएगी। जैकेट के कॉलर या जिप के पास कैमरा फिट रहेगा, जिससे छेड़छाड़ करने वाले की फोटो भी कैरे में कैद हो जाएगी।

प्रोजेक्ट के लिए छात्रों को मिले चुके हैं अवार्ड :

प्राजेक्ट के लिए छात्रों को कॉलेज में आयोजित प्रतियोगिता में कई अवार्ड मिल चुके हैं। छात्र शिवम ने बताया कि जैकेट का पेटेंट कराने के लिए आवेदन कर दिया गया है।न्होंने बताया कि इस जैकेट की कीमत भी सामान्य जैकेटों की तरह ही है।

छेड़छाड़ करनेर तुरंत गिरफ्त में होंगे आरोपी:

जैकेट महिलाओं की सुरक्षा के लिए जितनी कारगर है, उतनी ही पुलिस के लिए भी। आमतौर पर महिलाओं के साथ बढ़ रही घटनाओं को लेकर पुलिस के सामने अपराधियों को पकड़ने की चुनौती रहती है। ऐसे में इस जैकेट से आरोपितों की पकड़ आसान हो जाएगी। साथ ही गलत घटनाओं में लिप्त लोगों के मन में खौफ भी होगा।

जैकेट को एमआईटी के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंंग के पांच छात्रों शिवम श्रीवास्तव, राजीव मौर्या, नितिन कुमार, निखिल कुमार, त्रषभ भटनागर ने एसोसिएट प्रोफेसर राजुल मिश्रा, आलोक अग्रवाल और आलोक पांडे के नेतृत्व में तैयार किया है। बढ़ते अपराधों को देख छात्रों ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कुछ नया करने का संकल्प लिया और जैकेट को बनाने का विचार किया।

Input Vikash johari

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here