Visitors have accessed this post 72 times.

मंगलवार का दिन क्रिकेट इतिहास में अनोखे रिकार्ड के नाम रहा. इस दिन दो खास रिकॉर्ड बन गए और वो भी इंग्लैंड में ही. ये रिकॉर्ड भी वनडे क्रिकेट के थे जिसमें से एक लिस्ट ए क्रिकेट का और दूसरा अंतरराष्ट्रीय वनडे का. इस दिन इन दो अलग अलग मैचों में एक ही वनडे पारी में 450 से ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बन गया. इंग्लैंड में चल रहे ऑस्ट्रेलिया के दौरे के नॉटिंघम में हुए इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरे वनडे में इंग्लैंड ने  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 481 रन बनाकर वनडे इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बना डाला तो वहीं इंडिया ए ने लीसेस्टरशर के खिलाफ 458 रन बनाकर लिए ए मैचों का तीसरा सबसे बड़ा स्कोर बनाया.

इंग्लैंड ने ट्रेंट ब्रिज स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे वनडे में आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 481 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. यह पुरुष क्रिकेट में एक पारी में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सर्वोच्च स्कोर है. इंग्लैंड ने इस मैच में अपने ही रिकार्ड को धव्सत किया है. इससे पहले भी एक पारी में सर्वोच्च स्कोर का रिकार्ड इंग्लैंड के नाम ही थी जो उसने इसी मैदान पर 30 अगस्त 2016 को पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था. उस मैच में इंग्लैंड ने 50 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 444 रन बनाए थे.

वहीं इंग्लैंड में ही भारत ए ने दूसरे अभ्यास मैच में लीसेस्टरशर  के खिलाफ खेलते हुए 450 ज्यादा रनों का रिकॉर्ड बना डाला.  भारत ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 458 रन का स्कोर बनाया जो कि इस प्रारूप में लिस्ट ए में तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है. जबकि दूसरा स्कोर ही इसी दिन बना जो इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 481 रन बनाया था.

इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मैच में इंग्लैंड के लिए एलेक्स हेल्स ने सबसे ज्यादा 147 रन बनाए जिसके लिए उन्होंने सिर्फ 92 गेंदें लीं और 16 चौके तथा पांच छक्के लगाए. उनके अलावा जॉनी बेयरस्टॉ ने 92 गेंदों में 15 चौके और पांच छक्कों की मदद से 139 रनों की पारी खेली. दोनों खिलाड़ियों ने दूसरे विकेट के लिए 151 रनों की साझेदारी की. इस साझेदारी से पहले बेयर्सटो ने जेसन रॉय के साथ पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े थे. रॉय ने भी आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को जमकर धोया. उन्होंने 61 गेंदों में सात चौके और चार छक्के की मदद से 82 रन बनाए. कप्तान इयोन मोर्गन ने भी 30 गेंदों में 67 रनों की तूफानी पारी खेली जिसमें छह छक्के और तीन चौके शामिल हैं.

ऑस्ट्रेलिया की हुई सबसे बड़ी हार
आस्ट्रेलियाई टीम इस विशाल लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और सिर्फ 37 ओवरों में 239 रनों पर ढेर हो गई. यह आस्ट्रेलिया की रनों के लिहाज से वनडे क्रिकेट में अभी तक की सबसे बड़ी हार और इंग्लैंड की सबसे बड़ी जीत रही. आस्ट्रेलिया के लिए सलामी बल्लेबाज ट्रेविस हेड ने सबसे ज्यादा 51 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 38 गेंदों का सामना करते हुए सात चौके लगाए. हेड के सलामी जोड़ीदार डार्सी शॉर्ट (15) कुछ खास नहीं कर पाए और 27 के कुल स्कोर पर पहले विकेट के रूप में पवेलियन लौटे.

पिछले मैच में बेहतरीन पारी खेलने वाले शॉन मार्श सिर्फ 24 रन ही बना सके. मार्कस स्टोइनिस ने 44 रन बनाए. वह रन आउट हुए. मोइन अली और लेग स्पिनर आदिल राशिद की स्पिन जोड़ी ने आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को विकेट पर पैर नहीं जमाने दिए और लगातार विकेट लेते रहे. राशिद ने चार विकेट लिए तो वहीं अली ने तीन विकेट अपने नाम किए. डेविड विले को दो विकेट मिले. एक बल्लेबाज रन आउट हुआ.

भारत ए ने लीसेस्टरशर को 281 रन से हराया 
भारत ए ने दूसरे अभ्यास मैच में 458 रनों का रिकॉर्ड बनाते हुए लीसेस्टरशर को 281 रन से हरा दिया. 22 जून से शुरू हो रही त्रिकोणीय वनडे सीरीज से पहले हुए इस अभ्यास मैच में सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल के शानदार शतकों की मदद से भारत ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 458 रन का स्कोर बनाया.  इंडिया ए ने लिस्ट ए द्वारा बनाए गए भारतीय टीम द्वारा अधिकतम स्कोर के रिकॉर्ड को भी बेहतर किया. इससे पहले इंडिया ए ने दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ 2013 में 3 विकेट पर 433 रन बनाए थे.

इंडिया ए के इस 458 रनों के जवाब में लीसेस्टरशर की टीम 40.4 ओवर में 177 रन पर आउट हो गई .भारत ए का स्कोर फिलहाल लिस्ट ए मैचों में दूसरा सर्वोच्च स्कोर है .इससे पहले सर्रे ने ग्लूसेस्टरशर के खिलाफ 207 वनडे चैम्पियनशिप में 496 रन बनाए थे. अपनी आईपीएल फॉर्म को जारी रखते हुए पृथ्वी शॉ ने 90 गेंदों में आक्रामक 132 रनों की पारी खेली. उन्होंने इस पारी में 20 चौके और तीन छक्के लगाए. उनके साथी ओपनर मयंक अग्रवाल ने 106 गेंदों पर 151 रनों की विशाल पारी खेली. मयंक आउट नहीं हुए, बल्कि उन्हें रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा.

रिषभ पंत (13) अच्छी पारी खेलने में नाकाम रहे. उनके अलावा शुभमन गिल ने भी 86 रनों की शानदार पारी खेल डाली.  भारत के 458 के  जवाब में लीसेस्टरशर को कोई भी बल्लेबाज टिक कर नहीं खेल सका. केवल कप्तान टॉम वेल्स ही सबसे  ज्यादा 62 रन बना सके भारत के लिए दीपक चहर ने शानदार गेंदबाजी कर केवल 6.4 ओवर में 24 रन देकर सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए.

Input vikas

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here