Visitors have accessed this post 100 times.

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी ने आर्म्स लाइसेंस मांगा है. साक्षी धोनी ने अपनी जान का खतरा बताते हुए आर्म्स लाइसेंस की मांग की है. साक्षी का कहना है कि वह अधिकतर समय घर पर अकेली रहती हैं. अपने कामों के लिए उन्हें अकेले ही सफर करना पड़ता है. ऐसे में उनकी जान को भी खतरा रहता है, इसलिए उन्हें किसी हथियार की जरुरत है. उन्होंने पिस्टल या 0.32 रिवॉल्वर के लिए आवेदन दिया है. साक्षी ने आर्म्स लाइसेंस के लिए आवेदन करते हुए कहा कि उन्हें जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी पिस्टल या रिवॉल्वर खरीदने के लिए लाइसेंस दिया जाए.

बता दें कि 2010 में महेंद्र सिंह धोनी को गन लाइसेंस की मंजूरी मिल गई थी, जिसके बाद उन्होंने लाइसेंसी पिस्टल खरीदी थी. धोनी को लाइसेंस के काफी मेहनत करनी पड़ी थी. उनका आवेदन केंद्र को भेजा गया था और वहां से मंजूरी मिलने के बाद उन्हें इजाजत दे दी गई थी. रांची जिला प्रशासन ने गृह मंत्रालय को आवेदन भेजने से पहले 2008 में धोनी से चरित्र प्रमाण पत्र भी मांगा था.

मिली जानकारी के मुताबिक, साक्षी धोनी ने आर्म्स लाइसेंस के लिए मजिस्ट्रेट कार्यालय में आवेदन दिया था, जिसे अरगोड़ा थाना भेजा गया. अरगोड़ा थाने में इस आवेदन की जांच की और पाया कि साक्षी धोनी पर किसी भी तरह का कोई मुकदमा दर्ज नही है. अरगोड़ा थाने की जांच के बाद इस साक्षी के आर्म्स लाइसेंस के आवेदन को हटिया डीएसपी विकास पांडेय के पास भेज दिया. डीएसपी ने इसे सिटी एसपी और सिटी एसपी ने उसे एसएसपी कार्यालय भेज दिया है.

गौरतलब है कि 3 जुलाई से टीम इंडिया का इंग्लैड दौरा शुरू हो रहा है. भारत को इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्ट, 3 वनडे और 3 टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है. इंग्लैंड के खिलाफ भारत के क्रिकेट सीरीज की शुरुआत ओल्ड ट्रेफर्ड में टी-20 मैच के साथ होगी. महेंद्र सिंह धोनी 3 वनडे और 3 टी-20 मैचों के दौरान इंग्लैंड में रहेंगे.

Input vishal

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here