Visitors have accessed this post 87 times.

टीम इंडिया अपने 81 दिन के लंबे दौरे के लिए इंग्लैंड पहुंच चुकी है. यहां भारत के इंग्लैंड दौरे की शुरुआत 3 जुलाई से होगी, जहां उसे 3 टी-20, 3 वनडे और 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है. इंग्लैंड दौरे की शुरुआत से पहले टीम इंडिया 27 और 29 जून को आयरलैंड के साथ दो मैचों की टी-20 सीरीज खेलेगी. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का कहना है कि उनकी टीम दक्षिण अफ्रीका दौरे के बाद से मुश्किल से मुश्किल क्रिकेट खेलने को तैयार है. उन्होंने कहा कि हम इंग्लैंड में जीतना चाहते हैं. मुझे लगता है कि ये टीम के लिए बेहद अच्छी बात है. हम इंग्लैंड में जीतना चाहते हैं और टीम इस दौरे को लेकर उत्साहित है. वनडे और टी-20 में भी हम मुश्किल क्रिकेट खेलने को तैयार हैं. यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा समय है.

वहीं, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का कहना है कि चार साल पहले इंग्लैंड दौरे पर खराब प्रदर्शन के कारण विराट कोहली आगामी दौरे की तैयारियों को लेकर हड़बड़ी में थे. गांगुली इस बात को लेकर भी खुश है कि टीम के मौजूदा कप्तान दौरे की तैयारियों के लिए काउंटी क्रिकेट में खेलने नहीं गए.

सौरव गांगुली ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘विराट कोहली एक शानदार खिलाड़ी हैं. वह इस बार अच्छा करेंगे. मैं खुश हूं कि इंग्लैंड सीरीज से पहले उसने काउंटी क्रिकेट नहीं खेला. मुझे लगता है कि वह काउंटी क्रिकेट खेलने को लेकर काफी आतुर थे. पिछले दौरे पर अच्छा प्रदर्शन नहीं होने इस बार अच्छा करने को लेकर वह बेताब थे. वह इतने अच्छे खिलाड़ी हैं कि इस बार शानदार प्रदर्शन करेंगे.’’

बता दें कि विराट कोहली काउंटी में सरे के लिए खेलने वाले थे लेकिन गर्दन में चोट के कारण वह वहां नहीं जा सके.  इंग्लैंड रवाना होने से पहले खुद कोहली ने भी कहा कि काउंटी क्रिकेट में न खेलना उनके लिए अच्छा रहा क्योंकि इस दौरान उन्हें आराम करने का पूरा समय मिला.

दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में शानदार प्रदर्शन करने वाले कोहली इंग्लैंड के पिछले दौरे पर पूरी तरह फ्लॉप रहे थे. उन्होंने दस टेस्ट पारियों में 13.40 के औसत से महज 134 रन बनाए थे. गांगुली को लगता है कि इस बार पांच टेस्ट की सीरीज में कप्तान और भारतीय टीम दोनों अच्छा करेंगे.

सौरव गांगुली ने कहा, ‘‘भारत के पास अच्छा मौका है लेकिन इंग्लैंड की टीम भी फॉर्म में है. यह करीबी मुकाबला होगा.’’ हाल ही में वनडे मैच में इंग्लैंड के 481 रन के बारे में पूछे जाने पर गांगुली ने खेल के स्वास्थ्य पर चिंता जताते हुए सचिन तेंदुलकर के बयान का समर्थन किया.

रनों के अंबार पर तेंदुलकर ने कहा था कि एकदिवसीय क्रिकेट में दो नई गेंद का इस्तेमाल ‘‘इस खेल में आपदा’’ की तरह है. गांगुली ने कहा, ‘‘ हां, खेल में दो नयी गेंद के इस्तेमाल के कारण रिवर्स स्विंग का प्रभाव लगभग खत्म हो गया है. रिवर्स स्विंग इस लिए भी कम हो रही है क्योंकि आजकल मैदान काफी हरे-भरे हैं.’’

Input vishal

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here