Visitors have accessed this post 36 times.

सरकार खादी को अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक प्रमुख भारतीय ब्रांड के रूप में स्थापित करने की योजना बना रही है। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ही इस ब्रांड का प्रचार कर सकेगा और खादी ब्रांड पर उसका ही दावा होगा । एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

केवीआईसी खादी को दुनियाभर के प्रदर्शिनियों में पेश करेगा और इसका प्रचार करेगा। इससे उन विदेशी कंपनियों को दिक्कतें हो सकती हैं जो खादी को ट्रेडमार्क के रूप में पंजीकृत कराने की कोशिश में लगी हैं। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रम (एमएसएमई) सचिव अरुण कुमार पांडा ने कहा , हमें समुचित ब्रांडिंग की जरूरत है। हम इस बारे में वाणिज्य मंत्रालय के साथ चर्चा कर रहे हैं। आप एक बार खादी को एक ऐसे भारतीय ब्रांड के रूप में स्थापित करना शुरू करेंगे जिसके ऊपर सिर्फ केवीआईसी अपना होने का दावा कर सके तो अन्य लोग ऐसा नहीं कर पाएंगे। सरकार की मुहिमों के दम पर मार्च 2019 में समाप्त हो रहे चालू वित्त वर्ष के दौरान खादी उत्पादों की बिक्री में भारी उछाल की संभावना भी व्यक्त की।

Input samriddhi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here