Visitors have accessed this post 123 times.

कहते हैं इश्‍क में सोच का कोई काम नहीं। यहां दिल की बाजी दिल से खेली जाती है। लेकिन, इस बाजी को खेलने से पहले कुछ तैयारी करनी तो जरूरी है। बाद में पछताने से अच्‍छा है कि पहले ही कुछ बातें साफ कर ली जाएं। ताकि, आगे चलकर कोई दिक्‍कत न हो।

आप प्‍यार भरे एक रिश्‍ते की शुरुआत करना चाहते हैं। रोमांस के फूलों की महक से महकने लगा है आपका दिल। दिल खिंचा जा रहा है एक शख्‍स की ओर। लेकिन, जरा ठहरिये। क्‍या आप सही राह पर हैं। बहुत सोच समझकर चलना चाहिये इस राह पर। जरा सी चूक और उम्र भर का पछतावा। तो, इससे पहले कि आपका दिल प्‍यार के दरिया में गोते खाने लगे, चंद सवालों का जवाब तलाशना जरूरी है। यह जानना जरूरी है कि दिल जिसे चाहने लगा है, वह आपके लिए सही है भी या नहीं। वह आपके लिए बना है या आप ही तुले हैं उसे अपना बनाने में।

प्‍यार से पहले पूछें ये सवाल

ये सवाल-जवाब किसी इंटरव्‍यू सरीखे नहीं हैं। लेकिन, जिसकी तरफ आपका दिल आपको ले चला है, आपके लिए जरूरी है उसके बारे में जानना। आखिर पता तो चले कि जिसके हाथ में आप अपनी सबसे कीमती चीज सौंपने जा रहे हैं, आखिर वो इसके काबिल भी है या नहीं। चंद ऐसे सवाल हैं, जिनके जवाब आपकी राह आसान कर सकते हैं। और खत्‍म कर सकते हैं आपकी हर दुविधा को। आपको अंदाजा लग सकता है कि आप जिसके साथ अपना जीवन बिताने की सोच रहे हैं, क्‍या वो सही है।

तुम्‍हारे लिए इस रिश्ते के क्‍या मायने हैं

इस एक सवाल का जवाब तस्‍वीर का रुख काफी हद तक साफ कर देगा। आपको पता लग जाए कि इस रिश्‍ते के बारे में उसकी क्‍या क्‍या राय है। इस रिश्‍ते पर क्‍या नजरिया है उसका। कैसे देखता है वह इस रिश्‍ते को और आखिर उसकी नजर में इस रिश्‍ते का भविष्‍य क्‍या है। क्‍या, उसके दिल में इस रिश्‍ते को आखिर तक निभाने का विचार है। या बस उसके लिए यह रिश्‍ता मौजूदा पल ही है। इस सवाल को जानने के बाद आपको अंदाजा लग जाएगा कि आखिर आप इस रिश्‍ते को लेकर कितने गंभीर हैं और सामने वाले की नजर में रिश्‍ता क्‍या मायने रखता है। तो, महज इस एक सवाल के जवाब से आपको काफी मदद मिलेगी।

कैसा है जीवन तुम्‍हारे लिए

क्‍या वह शख्‍स पूरी तरह से नकारात्‍मक है। या फिर उसे उम्‍मीद की किरण नजर आती रहती है। कुछ भी हो, इस सवाल से आप जान सकते हैं कि जिंदगी के प्रति उसका क्‍या नजरिया क्‍या है। वह कैसे जिंदगी और उसकी मुश्किलों को देखता है। आपको अंदाजा लग सकता है कि जीवन के प्रति आखिर उसका रवैया आपसे मेल खाता है या नहीं। या फिर वह नजरिया आपके लिए मुफीद है या नहीं। क्‍या आपके बीच सहमति के बिंदु अधिक हैं या ज्‍यादातर बातों पर आपकी राय एक दूजे से मेल नहीं खाती।

तुम्‍हें क्‍या पसंद है

क्‍या तुम्‍हें किताबों की संगत पसंद है या संगीत के दीवाने हो। फिल्‍में देखना तुम्‍हारा शौक है या लिखकर बयां करते हो दिल की जुबां। खाना पकाना तुम्‍हें पसंद है या बातें करना तुम्‍हारा पसंदीदा टाइम पास। या फिर कुछ और है जिसे करके तुम्‍हें मिलती है खुशी। यह सवाल भले ही छोटा लगे, लेकिन इसमें बहुत गहराई है। पसंद किसी भी व्‍यक्तित्‍व के बारे में काफी कुछ बयां करती है। इससे आप उस शख्‍स के बारे में एक खाका खींच सकते हैं। इससे आपको अंदाजा लग सकता है कि आखिर वह व्‍यक्ति है किस प्रकार का। और अपने खाली वक्‍त में वह क्‍या करना पसंद करता है।

व्‍यक्ति नहीं व्‍यक्तित्‍व भी देखें

व्‍यक्तित्‍व निर्माण में परिवार का अहम रोल होता है। किसी व्‍यक्ति के परिवार के बारे में जानकर आप उसके बारे में कुछ तो अंदाजा लगा ही सकते हैं। आप उससे पूछ सकते हैं कि आखिर उसका बचपन कहां बीता। कहां वह बड़ा हुआ। आखिर कहां, तुमने पढ़ाई की। इन सबसे आपको किसी व्‍यक्ति के बारे में काफी अंदाजा लग सकता है। हालांकि, व्‍यक्तित्‍व निर्माण में और भी कई पहलु काम करते हैं, लेकिन फिर भी इस बात से कुछ तो अंदाजा लग ही सकता है…

इन सवालों की गलियों के अलावा बहुत कुछ ऐसा है, जिसे आपको जानना चाहिये। और इसके लिए जरूरी है कि आप दोनों में सार्थक संवाद हो। बातचीत किसी भी रिश्‍ते में सबसे जरूरी चीज होती है। छोटी-छोटी बातें, कई बार बड़ी-बड़ी मुश्किलें हल कर देती हैं। बातचीत करके ही आप किसी के दिल की बातें जान सकते हैं। बातें बंद दिलों के ताले खोल देती हैं तो बातें कीजिए और जानिए कि क्‍या आप वास्‍तव में सही राह पर हैं।

Input urvashi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here