Visitors have accessed this post 58 times.

पानीपत(सुनील वर्मा): हर माह युवक व उसके परिवार को रुपए देकर कमेटियां डाल रही करीब 1000 महिलाएं ठगी की शिकार हो गई। कमेटियां पूरे होने पर युवक अपने बेटा-बेटी संग फरार हो गया। पानीपत में अपने दो मकान भी बेच गया। कई ने दो से 5 कमेटियां तक डाल रखी थी, अब रुपए के लिए चक्कर काट रही हैं। किसी ने बेटी की शादी के लिए तो किसी ने बच्चों को पढ़ाने के लिए रुपए जोड़ने के लिए कमेटियां डाली थीं। महिलाओं का दावा है कि युवक करीब दो करोड़ रुपए ठग कर भागा है। महिलाएं शिकायत लेकर किला थाने में पहुंच गई। वहां पर आरोपियों के खिलाफ पुलिस को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की।
ठगी की शिकार नीना, कमला देवी, अनीता व संतोष ने बताया कि 4 साल पहले आरोपी युवक की पत्नी गुरु कृपा लक्की ड्राॅ के नाम से कमेटियां डालती थी। अक्टूबर 2017 में उसकी मौत के बाद युवक, उसकी बेटा-बेटी काम को संभालने लगे। जून में ही 4, 7, 8, 11, 12, 16, 18, 21, 22 को महिलाओं की कमेटी पूरी हुई हैं, लेकिन रुपए नहीं दिए। 21 जून को 550 मेम्बरों की कमेटी पूरी हुई थी। आरोपी ने 28 जून को रुपए देने की बात कहकर सभी से किस्त जमा कर ली और परिवार के साथ भाग गया। नीना के दो लाख, कमला देवी के दो लाख, अनीता के 5 लाख और संतोष के 90 हजार रुपए ठगे गए। पीड़ितों के अनुसार आरोपी खुद को पूर्व मेयर का साढ़ू बताता था।
गुरु कृपा लक्की ड्राॅ के नाम से कमेटी डालती थी आरोपी की पत्नी, हर माह 500 रुपए करते थे जमा।
देशवाल कॉलोनी की पूजा खुराना और सेक्टर 13/17 की सुनीता ने बताया कि आरोपियों ने ग्रुप बना रखे थे। एक ग्रुप में 400, 450, 500 व 550 मेंबर हैं। हर माह मेम्बर 500 रुपए की किस्त देते थे, 20 माह तक जमा करनी पड़ती थी। 550 मेम्बरों वाले ग्रुप में हर माह की 21 तारीख को लक्की ड्राॅ निकाला जाता था, जिसमें विजेता 5 महिलाओं को पैसे देते थे। 1 से 5 माह तक 5 हजार, 6 से 10 माह तक 7500, 11 से 15 माह तक 9500 और 16 से 20 माह तक के विजेताओं को 11 हजार देते थे। विजेता होने के बाद किस्त जमा नहीं करनी होती थी। 20 माह में लक्की ड्राॅ नहीं निकला तो बाद में 10 हजार रुपए लौटाए जाते थे। पूजा से 1.10 लाख और सुनीता से 4 लाख रुपए की ठगी हुई है। पीड़ित महिलाओं का कहना है कि आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ा जाए ताकि उनके पैसे मिल सकें। ये पैसे उनके खून पसीने की कमाई के हैं।
जांच कर करेंगे कार्रवाई :एसएचओ
महिलाओं ने आरोपी के खिलाफ शिकायत दी है। जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। दोनों पक्षों को बुलाकर हकीकत का पता किया जाएगा। जो भी दोषी होगा, कार्रवाई की जाएगी। बलवान सिंह, एसएचओ, किला थाना
रुपए जमा करने के लिए डाली थी कमेटियां
3 साल पहले एक महिला के जरिए आरोपी की पत्नी से संपर्क हुआ। 11 कमेटियां डाल दी। हर माह 5500 रुपए की किस्त दे रहे थे। पत्नी की मौत के बाद आरोपी व उसके बेटा-बेटी किस्त ले रहे थे। लेकिन किस्त पूरी होने पर युवक परिवार को लेकर भाग गए। रुपए जमा करने के लिए कमेटियां डाली थी। कल्पना गोयल, देशराज कॉलोनी
बेटी की शादी के लिए जोड़ रही थी रुपए
मैं घरों को झाडू-पौंछा लगाने का काम करती हूं। आरोपियों के झांसे में आकर बेटी की शादी के लिए रुपए जोड़ने के लिए 3 कमेटियां डाल दी। 25 हजार रुपए उसके ठगे गए। दुलारी देवी, खेल बाजार
बेटी, बहू व सास की कमेटियां ले गया आरोपी
बेटी स्वाति और बहू पूजा के साथ मैंने भी कई कमेटियां डाल रखी थी। आरोपी को 13500 रुपए की किस्त देते थे। एक कमेटी 21 जून को पूरी हो गई और दूसरी 11 जुलाई को होने वाली थी। दो लाख रुपए से ज्यादा की ठगी हो गई। रानी देवी, आईबी कॉलेज के नजदीकी, पानीपत।
बच्चों की पढ़ाई के लिए जोड़ रही थी रुपए
कमला, मंजू व शंटी के साथ हर माह 3500 रुपए आरोपियों के पास जमा किए थे। कमेटी 21 जून को पूरी हुई, लेकिन आरोपी रुपए लेकर भाग गया। किस्त पौंछा लगाकर भरी हैं। बच्चों की पढ़ाई के लिए रुपए जोड़ रही थी। रानी देवी, गांधी कॉलोनी

यह भी देखे:

देखें जब आत्माओं का रियलटी टेस्ट करने पहुंची TV30 INDIA की टीम उस सापित जगह तब जो हुआ

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here