Visitors have accessed this post 75 times.

हाथरस : पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल द्वारा पुलिस कार्यालय स्थित सभागार कक्ष में अपराध गोष्ठी का आयोजन किया गया । गोष्ठी में अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार, क्षेत्राधिकारी नगर रुचि गुप्ता, क्षेत्राधिकारी कार्यालय शैलेन्द्र कुमार वाजपेयी, क्षेत्राधिकारी सादाबाद ब्रहम सिंह, क्षेत्राधिकारी सिकन्दराराऊ सुरेन्द्र सिंह, प्रतिसार निरीक्षक, समस्त थाना प्रभारी मौजूद रहे । इस दौरान सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक द्वारा अवैध शराब के निर्माण, भंडारण, परिवहन, बिक्री पर प्रभावी नियंत्रण लगाने हेतु जनपद में चलाये जा रहे “ऑपरेशन प्रहार” के तहत अब तक की गई कार्यवाही की समीक्षा की गयी । इसके उपरान्त शराब माफियाओ को चिन्हित कर उनके विरुद्ध लगातार कड़ी कानूनी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया । तथा जनपद में पकड़े गए अवैध/अपमिश्रत शराब फैक्ट्री से सम्बंधित शराब माफियाओं को चिन्हित कर गैंगस्टर एक्ट और सम्पत्ति जब्तीकरण की कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया । साथ ही अवैध शराब के निर्माण तथा बिक्री पर अंकुश लगाये जाने हेतु चलाये जा रहे अभियान “ऑपरेशन प्रहार” के अन्तर्गत लगातार कार्यवाही जारी रखने हेतु सभी को निर्देशित किया गया और कहा कि इसमें किसी प्रकार की कोई शिथिलता ना बरती जाये । साथ ही हिस्ट्रीशीटर व सक्रिय अपराधियों की लगातार चैकिंग करते रहने तथा क्षेत्र के शातिर किस्म के अपराधी जिनके विरूद्ध अधिक मुकदमें पंजीकृत हो, उनकी हिस्ट्रीशीट खोलने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया । इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक द्वारा शासन द्वारा चलाये जा रहे मिशन शक्ति अभियान के फेस–3 के दौरान की जाने वाली कार्यवाहियों के बारे में समीक्षा की गयी तथा मिशन शक्ति अभियान के फेस-1, फेस-2 के दौरान लंबित विवेचनाऐ, विशेषकर महिला सम्बन्धी अपराध, पोक्सो एक्ट आदि की समीक्षा की गई तथा गुण दोष के आधार पर शीघ्र निस्तारण अपराधियों के विरूद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया । साथ ही मिशन शक्ति फेस-3 के तहत ज्यादा से ज्यादा चौपाल/मीटिंग का आयोजन कर महिलाओं/बालिकाओं को उनके अधिकारो के प्रति जागरुक करने हेतु निर्देशित किया गया । पुलिस अधीक्षक द्वारा विगत तीन वर्षों में महिलाओं सम्बन्धी अपराधों में संलिप्त अभियुक्तों के भौतिक सत्यापन की कार्यवाही शीघ्र ही पूर्ण करने एवं पीड़िताओं से सम्पर्क कर सकुशलता पूछने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया । साथ ही सभी थाना प्रभारियों को बालिकाओं एवं महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों पर प्रभावी कार्यवाही करने, एंटी रोमियों टीम द्वारा अभियान को निरंतर जारी रखने हेतु निर्देशित किया गया । तत्पश्चात पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि महिलाओ ,बालिकाओ सम्बन्धी अपराधो पर अंकुश लगाने तथा उनके मध्य सुरक्षा की भावना जागृत करने हेतु सभी थानो पर महिला बीट पुलिस अधिकारी नियुक्त करने के सम्बन्ध में समीक्षा की गयी तथा निर्देशित किया गया कि थाने में तीन या चार बीटो पर एक महिला बीट पुलिस अधिकारी नियुक्त करें जो गांवो में जाकर महिलाओं से सीधा संवाद स्थापित कर किसी भी हिंसा के मामले मे अथवा अपराध होने की स्थिति में तत्काल थाने को सूचना देकर अपेक्षित कार्यवाही कराना सुनिश्चित करेंगे । इसके अलावा छोटी छोटी शिकायतों को तत्काल संज्ञान लेकर कार्यवाही की जाये । तथा थाने में नियुक्त महिला आरक्षियों को निर्देशित करें कि महिला पुलिसकर्मी अपनी बीट में जाकर पंचायत घर अथवा किसी सार्वजनिक जगहों पर जाकर मिशन शक्ति कक्ष स्थापित कर महिलाओं की समस्याओं को सुनें एवं उन्हें जागरूक करने हेतु निर्देशित करें । इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक द्वारा जोन स्तर से अपर पुलिस महानिदेशक आगरा जोन आगरा के आदेशानुसार आगरा जोन के समस्त जनपदो में पुलिसकर्मियों व उनके परिवार व सभी स्कूल/कॉलेज,डॉक्टर्स, व्यापारिक संगठऩ व आम-जनमानस जो कि ग्राम,कस्बो व मोहल्लो में निवास करते है, को साईबर अपराधों व सोशल मीडिया के बारे में जागरुक करने हेतु प्रस्तावित साइबर जागरुकता अभियान के सम्बन्ध मे सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सभी अपने अपने थाना क्षेत्रो की ग्राम,कस्बो बीटो के अन्तर्गत आने वाले ग्राम, मौहल्लो व कस्बो के प्रधानो, पार्षदो व अन्य सम्मानित व्यक्तियों से समन्वय स्थापित कर उनको कार्यक्रम के बारे में जानकारी दे तथा इस सम्बन्ध में गांव गांव में गोष्ठी का आयोजन कर ज्यादा से ज्यादा लोगो को जानकारी दे तथा पम्फलेट्स व बैनर बनावकर लोगो को जानकारी दे, ताकि नियत तिथियों पर अधिक से अधिक लोग साइबर अवेयरनेस कार्यक्रमों को सुन व देख सके तथा जिससे कि आमजन साईबर अपराधों के प्रति सतर्क रहकर ऐसे अपराधो से बच सके ।पुलिस अधीक्षक द्वारा अधिकारियों को जोन स्तर से चलाये जा रहे ऑपरेशन पहचान के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी तथा आपरेशन पहचान के तहत की गई कार्यवाही की समीक्षा की गई । इसके उपरान्त पहचान एप्प के माध्यम से ही सभी अपराधियों के भौतिक सत्यापन की कार्यवाही की समीक्षा की गयी तथा भौतिक सत्यापन की कार्यवाही में तेजी लाने हेतु तथा सभी सूचनाएं अघ्यावधिक करने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया । इसके साथ ही पहचान एप्प पर प्रतिदिन होने वाले अपराधो, अभियुक्तो की गिरफ्तारी, वारण्ट, इनामी व जमानती आदि सूचनाओ को समय से अध्यवाधिक करने हेतु निर्देशित किया गया । पुलिस अधीक्षक द्वारा थानों के टॉप-10 अपराधियों के बारे में भी सभी थाना प्रभारियों से समीक्षा की तथा उनकी सतत निगरानी रखने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिए । जनपद में चोरी व लूट की घटनाओं के प्रभावी रोकथाम हेतु दिन व रात्रि गश्त व क्षेत्र भ्रमण पर पर्याप्त पुलिस बल लगाने तथा बैंक व लेनदेन वाले स्थानो पर विशेष सतर्कता बरतने, संदिग्ध व्यक्तियों व वाहनों की चैकिंग करने तथा बैंक ड्यूटी में जाने वाले कर्मचारियों की ड्यूटी के सम्बन्ध में ब्रीफ करने एवं सभी पुलिसकर्मियों को ड्यूटी के दौरान दृश्यता, गतिशीलता, सजगता एवं सतर्कता रखने हेतु निर्देशित किया गया ।
इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी को निर्देशित किया कि जनप्रतिनिधियों, पत्रकार बंधुओं एवं जनता से बेहतर समन्वय बना कर कार्य करें तथा सभी से अच्छा व्यवहार रखें । थानाक्षेत्र के व्यापारियों तथा सम्भ्रांत व्यक्तियों की नियमित गोष्ठी सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी द्वारा ली जाए जिससे उनकी समस्या सुनकर समयबद्ध तरीके से उनका निस्तारण किया जा सके ।

 

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave