Visitors have accessed this post 33 times.

धौलाना ब्लॉक के अंतर्गत सांसद आदर्श ग्राम योजना में चयनित ग्राम ककराना में प्रदेश शासन के सचिव एवं जनपद के नोडल अधिकारी संतोष यादव के द्वारा विकास कार्यक्रमों का किया गया भौतिक सत्यापन। गांव में विकास कार्यक्रमों में तेजी लाने के दिए निर्देश। ग्रामीणों की समस्याओं का निस्तारण अधिकारीगण प्राथमिकता के आधार पर करें। ककराना में शुगर बीमारी के मरीजों के इलाज के संबंध में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लगाया जाएगा कैंप
उत्तर प्रदेश शासन के सचिव एवं जनपद हापुड़ के नोडल अधिकारी संतोष यादव के द्वारा आज धौलाना ब्लॉक के सांसद आदर्श ग्राम योजना में चयनित ककराना गांव में पहुंचकर विकास कार्यक्रमों का भौतिक सत्यापन किया गया। इस अवसर पर उन्होंने बच्चों की पढ़ाई में गुणात्मक सुधार लाने तथा बच्चों के स्किल डेवलपमेंट के संबंध में स्कूली बच्चों से भी मुलाकात की। सचिव उत्तर प्रदेश शासन एवं नोडल अधिकारी के द्वारा अपने भ्रमण कार्यक्रम के दौरान ककराना गांव में ग्राम सभा एवं विभागीय अधिकारियों के माध्यम से संपादित कराए गए कार्यों का सत्यापन ग्रामीणों से मालूमात करते हुए किया गया। उन्होंने पाया कि गांव में विद्युत आपूर्ति हेतु 14 ट्रांसफार्मर लगे हुए हैं। विद्युत आपूर्ति ग्रामीणों के द्वारा सही बताई गई। संबंधित गांव में 40 हैंडपंप स्थापित हैं जिसमें एक हैंडपंप ग्रामीणों के द्वारा खराब बताया गया। स्वच्छ शौचालय 91 बनाए गए हैं ग्रामीणों से जानकारी करते हुए उनका प्रयोग होना पाया गया। गांव में कराए गए निर्माण कार्य, सीसी रोड एवं नाली खडंजा के संबंध में भी नोडल अधिकारी संतोष यादव के द्वारा ग्रामीणों से मालूमात की गई जिसमें सभी कार्यों को ग्रामीणों ने सही बताया। ककराना गांव में 24 स्ट्रीट लाइट लगी हुई हैं जो सही रूप से कार्य कर रही हैं। 14 पात्र लाभार्थियों को वृद्धावस्था पेंशन, 40 लोगों को निराश्रित महिला पेंशन, 19 लोगों को दिव्यांग पेंशन गांव में प्रदान की जा रही है। जिसमें दिव्यांग पेंशन को छोड़कर अन्य पेंशनों में प्रथम किस्त अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। जिसके संबंध में नोडल अधिकारी के द्वारा विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए गए। गांव में 3 आंगनवाड़ी केंद्र संचालित हैं जिस पर 15 कुपोषित बच्चे तथा 10 अति कुपोषित बच्चे पाए गए। ग्रामीणों की समस्याओं के संबंध में नोडल अधिकारी के द्वारा ग्रामीणों से वार्तालाप किया गया। जिसमे ग्रामीणों के द्वारा बताया गया कि गांव के शमशान का सुंदरीकरण का कार्य कराया जाना बहुत आवश्यक है। 350 मीटर का गांव में कच्चा मार्ग है तथा गांव में शुगर के 500 से अधिक मरीज है, और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा धौलाना के स्वास्थ्य केंद्र पर कोई सुविधा नहीं है। ग्रामीणों के द्वारा गांव के संबंध में उठाई गई समस्याओं के लिए श्री यादव ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा बताए गए कार्यों को विभागीय अधिकारियों के माध्यम से सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर कराया जाएगा। शुगर के मरीजों के इलाज करने के लिए उन्होंने मौके पर ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए। गांव में एक विद्युत पोल ग्रामीणों के द्वारा ना लगाए जाने के संबंध में उन्होंने उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि ग्रामीणों से सामंजस्य स्थापित कर बात करते हुए इस कार्य को कराया जाए। 350 मीटर के कच्चे मार्ग के संबंध में उन्होंने खंड विकास अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि ग्राम सभा कीमत में 50 लाख से अधिक धनराशि उपलब्ध है। अतः संबंधित कार्य को तत्काल प्रभाव से सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर कराया जाए। इसी प्रकार उन्होंने ग्राम सभा के माध्यम से श्मशान घाट के सौंदर्य करण की बात भी कही। एक ग्रामीण ने नोडल अधिकारी को यह भी अवगत कराया कि गांव में किसानों के गन्ने का भुगतान नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि उच्च स्तरीय अधिकारियों से बात करते हुए किसानों की समस्या का निपटारा कराया जाएगा। नोडल अधिकारी संतोष यादव ने स्कूल में बच्चों की पढ़ाई के संबंध में भी स्कूली बच्चों से वार्तालाप किया जिसके अंतर्गत बच्चों की पढ़ाई में गुणवत्ता पाई गई। उनके द्वारा इस अवसर पर आंगनवाड़ी केंद्र का भी स्थलीय निरीक्षण करते हुए बच्चों के वजन की पंजिका का अवलोकन किया और कार्यक्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि कुपोषित एवं अति कुपोषित बच्चों को पोषित करने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। ग्रामीण भ्रमण के दौरान नोडल अधिकारी के द्वारा स्कूल में एक पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी दीपा रंजन, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जय नाथ यादव, जिला विकास अधिकारी संजय कुमार, उप जिलाधिकारी हनुमान प्रसाद, क्षेत्राधिकारी अधिकारी पुलिस तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया। भौतिक सत्यापन कार्यक्रम का संचालन खंड विकास अधिकारी के माध्यम से किया गया
INPUT – PRAMOD SHARMA

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here