Visitors have accessed this post 32 times.

एक ही घर मे 6 दिन में डेंगू से इलाज़ के दौरान 3 लोगों की मौत

वहीं गांव में अन्य लोगों की मौत की ख़बर आ रही सामने

गांव में 50 लोगों से अधिक,तेज़ बुखार की चपेट में

दर्जनों लोग इलाज़ के अभाव में निजी अस्पतालों में भर्ती

गांव में गन्दगी के लगे अम्बार,सफाई व्यवस्था चरमराई

बतादें की पूरा मामला दातागंज विकास क्षेत्र के ग्राम गनगोला का है जहां गांव में डेंगू मलेरिया और बुखार का प्रकोप जारी है वही गांव में 6 दिन के अंदर एक ही परिवार की डेंगू से इलाज के दौरान 3 महिलाओं की मौत हो चुकी है तथा पड़ोस में एक अन्य महिला की भी डेंगू से मौत हुई है वही पीड़ितों के परिवार के अन्य सदस्य अस्पताल में भर्ती हैं। बात करें गांव की तो गांव से दर्जनों लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दातागंज में इलाज न मिल पाने की वजह से निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। वही गांव में डेंगू और मलेरिया के प्रकोप का कहर जारी है। बता दें कि एक ही परिवार में गङ्गा देवी 60 पत्नी लाखनराम की मौत इलाज़ के दौरान सैफई में हुई है व मृतिका के बेटों की दो बहुएं शोभा 23 पत्नी सुधीर कुमार व रुचि 21 पत्नी अवधेश कुमार की मौत इलाज़ के दौरान बरेली के निजी अस्पताल दीपमाला हुई है।वहीं पड़ोस में ही सुनीता देवी 50 पत्नी महिपाल की मृत्यु भी इलाज़ के दौरान बरेली के निजी अस्पताल दीपमाला में हुई है। जबकि मृतकों के परिवार में अन्य लोग भी तेज बुखार की चपेट में हैं।व कई लोग स्वास्थ्य केंद्र में इलाज़ न मिल पाने के कारण निजी अस्पताल में भर्ती हैं।तथा गांव में बड़ी संख्या में लोग बुखार की चपेट में है।वहीं गांव में झोला छाप डॉ भी मनमानी के चलते इलाज़ कर रहे हैं।
वहीं जिस घर में तीन मौतें हुई हैं वहां पीड़ित अवधेश कुमार ने बताया कि सर्वप्रथम उनकी माता जी को तेज बुखार आया था जिन को लेकर वह समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दातागंज पहुंचे जहां उनसे प्राइवेट लैब से हजारों रुपए की जांच कराईं गईं। वही जब ज्यादा हालत बिगड़ी तो बदायूं ले जाने के लिए सलाह दी इसी तरह से वह अपनी पत्नी और भाभी को भी सर्वप्रथम स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां से उन्हें प्राइवेट लैब में जांच के लिए भेजा गया और स्थिति में सुधार न देखते हुए बदायूं के लिए रेफर किया। अवधेश कुमार ने बताया कि दातागंज स्वास्थ्य केंद्र में जब सही इलाज न मिला तो उन्होंने निजी अस्पतालों में इलाज कराया और वही उन्होंने अपने परिवार के तीन लोगों को डेंगू के कारण खो दिया अवधेश कुमार ने बताया कि उनके परिवार और पड़ोस में कई लोग बुखार की चपेट में हैं। जिनके प्लेटलेट्स कम हो रहे हैं।तथा गांव में सात आठ लोगों की मौत भी हो चुकी है |

INPUT – Ajay Phatak

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE