Visitors have accessed this post 29 times.

दिनांक: 22 अक्टूबर को समय 16:30 बजे डायल 100 कंट्रोल रूम को सूचना प्राप्त हुई की दो लड़कियां दिल्ली में मिली है उन्होंने बताया है कि आदित्य मॉल के पास न्याय खंड 2 इंदिरापुरम मैं कुछ लड़कियां अवैध रूप से रखी गई है इस सूचना पर सहायक पुलिस अधीक्षक थाना इंदिरापुरम पुलिस द्वारा शिकायतकर्ता से उसके मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया तो फोन धारक ने अपना नाम प्रवीण अरोड़ा बताया तथा सूचना दिया कि आदित्य मॉल के सामने खड़े हैं उक्त सूचना पर सहायक पुलिस अधीक्षक इंदिरापुरम एवं चौकी प्रभारी अभय खंड के आदित्य मॉल पर पहुंचने पर प्रवीण अरोड़ा उसकी पत्नी दो लड़कियों के साथ मौजूद मिले लड़कियों से पूछने पर बताया कि यहां फ्लैटों में काफी संख्या में जबरदस्ती से कुछ लड़कियां रखी हुई है जो विभिन्न देशों में सप्लाई होने वाली है वे दोनों ही यहां से भागकर प्रवीण अरोरा के पास पहुंची है इस सूचना पर विश्वास करके क्षेत्राधिकारी नगर तृतीय सहायक पुलिस अधीक्षक रवि कुमार द्वारा प्रभारी निरीक्षक इंदिरापुरम नजीर अली खान को अधिक से अधिक पुलिस बल लेकर न्याय खंड 2 पहुंचने हेतु आदेश किया समस्त पुलिस वल जाने के बाद सहायक पुलिस अधीक्षक द्वारा समस्त पुलिस वालों को ब्रीफ कर हमराह लेकर उपर्युक्त दोनों नेपाली लड़कियों के साथ उनके बताए स्थान पर पहुंचे तो वहां काफी संख्या में महिलाएं मिली फ्लैट नंबर डी 24 सेकंड फ्लोर सृजन बिहार न्याय खंड 2 थाना इंदिरापुरम गाजियाबाद से 17 महिलाएं तथा वहीं पास में दूसरे फ्लैट C5 सृजन विहार न्याय खंड 2 थाना इंदिरापुरम जनपद गाजियाबाद से 11 महिलाएं बरामद हुई इन् सभी को नेपाल के विभिन्न विभिन्न स्थानों से कुछ एजेंटों द्वारा यह प्रलोभन देकर कि तुम्हें खाड़ी देशों जैसे दुबई इराक कुवैत आदि में घरों में काम करने के लिए रखवा देंगे एवं अच्छे पैसे दिलवाएंगे यह कह कर लाया गया था इन सभी के पास वर्तमान में कोई पासपोर्ट एवं वीजा मौजूद नहीं है एवं पूछने पर उन्होंने बताया कि केदारनाथ नाम का एक एजेंट यहां आसपास कहीं रहता है हमारे वीजा और पासपोर्ट उसी के पास हैं और वही हमारे खाने पीने का प्रबंध करता है इन्हीं महिलाओं में से 2 महिलाओं जो इन फ्लैटों से भाग गई थी ने पुलिस को बताया कि साहब हमें यहाँ पर यह कह कर लाए थे कि तुम्हें जल्दी कुवैत भेज देंगे लेकिन 1 महीने से ज्यादा हो गया हमें विवशता पूर्वक यहां रखा हुआ है हमें शक है कि कहीं बाहर के मुल्क में ले जाकर हमारा शारीरिक शोषण ना करें केदारनाथ पुत्र बद्री प्रसाद निवासी भवन नंबर 1102 बुद्धा जोरापाटी थाना जोरापाटी जिला काठमांडू नेपाल हाल पता A 102 B9 सेकंड फ्लोर मासूकपुर थाना वसंत कुंज दिल्ली ने बताया कि मैं तो बिजोलिया हूं जो खाड़ी देशों में महिलाओं को सप्लाई करता हूं वहां पर उनका क्या होता है इस बारे में मुझे जानकारी नहीं है मुझे 1000 प्रतिदिन के हिसाब से लड़की को रखने का पैसा मिलता है इस धंधे
के एजेंट दुबई और नेपाल में है जो मुझे समय-समय पर संपर्क करते हैं अपराधियों पर भारतीय दंड विधान के तहत अलग-अलग धाराओं में कार्यवाही की गई है

INPUT – MANOJ BHATNAGAR

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here